जगरनाथ महतो

जगरनाथ महतो: झारखंड के शिक्षा मंत्री ने लिया 11वीं कक्षा में दाखिला

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने 25 साल बाद फिर पढ़ाई शुरु कर दी है। मैट्रिक पास जगरनाथ महतो ने 52 साल की उम्र में कक्षा ग्यारहवी में दाखिला लिया है। जब विपक्ष ने उनके इस कदम की आलोचना की तो उन्होंने जवाब दिया कि पढ़ाई की कोई उम्र नहीं होती।

हमारे देश में कई ऐसे मंत्री और नेता हैं जो फर्ज़ी डिग्री दिखाकर जनता को बेवकूफ बना रहे हैं, कई ऐसे जनप्रतिनिधी हैं जो अपनी शैक्षणिक योग्यता जनता से छिपाते हैं लेकिन झारखंड के शिक्षामंत्री महतो ने ऐसा नहीं किया। जगरनाथ महतो अब एक आम छात्र की ही तरह अपनी शिक्षा पूरी करेंगे। डुमरी विधानसभा क्षेत्र के देवी महतो स्मारक इंटर महाविद्यालय नावाडीह में उन्होंने 11वीं कक्षा का नामांकन करवाया। मैट्रिक पास महतो को जब शिक्षा मंत्री बनाया गया तो चारों तरफ उनकी आलोचना की गई। इन आलोचकों को जवाब देने के लिए उन्होने यह कदम उठाया है।

READ:  How CBSE will award marks to Class 12, Class 10 students?

यह भी पढ़ें: बरसों से महिलाएं लॉकडाउन में रहती आई हैं!

सर्टिफिकेट के अनुसार 31 दिसंबर 1967 में जन्में महतो ने नेहरु उच्च विधालय से 28 साल की उम्र में मैट्रिक पास की थी। उस समय बिहार विद्यालय परीक्षा समिति होती थी।

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार शिक्षा व्यवस्था के विकास के लिए काफी काम कर रही है। इसके लिए उन्होंने हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल से भी मुलाकात की थी। मुख्यमंत्री बनने के बाद हेमंत सोरेन दिल्ली मॉडल की तर्ज पर ही राज्य में शिक्षा व्यवस्था सुधारने के लिए संकल्पबद्ध हैं। शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो का दोबारा पढ़ाई शुरु करना जनता के लिए एक उदाहरण होगा कि पढ़ाई की कोई उम्र नहीं होती।

READ:  Amid surge in COVID-19 cases, UGC directs to conduct final year exams

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।