Home » Madhya Pradesh: फर्जी अस्पताल के नाम से सीरम इंस्टीट्यूट को 10 हजार वैक्सीन का आर्डर!

Madhya Pradesh: फर्जी अस्पताल के नाम से सीरम इंस्टीट्यूट को 10 हजार वैक्सीन का आर्डर!

Jabalpur
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Jabalpur: सीरम इंस्टीट्यूट में 25 मई 2021 को मध्य प्रदेश के 6 अस्पतालों ने 10 हजार कोविशील्ड का ऑडर दिया था। बताया जा रहा है की इसमें भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर (Jabalpur) समेत 3 अन्य अस्पतालों ने कोविशील्ड के लिए ऑडर दिया था। आपको बता दें कि जबलपुर के मैक्स हेल्थ केयर नाम के ही एक अस्पताल ने 10 हजार कोविशील्ड (Covishield) का ऑडर दिया था। वहीं,, स्वास्थ्य महकमा अभी तक इस अस्पताल के बारे में पता नहीं लगा पाया है।

जबलपुर (Jabalpur) में मैक्स हेल्थ केयर नाम का कोई अस्पताल नहीं

आपको बता दें कि भोपाल से जबलपुर के स्वास्थ्य टीम को वैक्सीन (Covishield) के लिए अस्पतालों में जा कर कोल्ड स्टोरेज क्षमता की जांच करने का आदेश दिया गया था। ऐसे में जब जबलपुर के टीकाकरण अधिकारी ने मैक्स हेल्थ केयर हॉस्पिटल के बारे में जानकारी इक्ट्ठा करनी शुरू की, तो पता चला , इस नाम का कोई अस्पताल ही नहीं है। वहीं सारी जानकारी लेने के बाद टीकाकरण अधिकारी ने ऐसे किसी अस्पताल के न होने की जानकारी भोपाल भेज दी।

Vaccination: 21 जून से 18+ के लोगों के लिए केंद्र सरकार सभी राज्यों को देगी मुफ्त वैक्सीन

किसने दिया वैक्सीन का इतना बड़ा ऑडर

READ:  Mixed vaccine doses: safety, effectiveness, and flexibility

जब टीकाकरण अधिकारी को मैक्स हेल्थ केयर हॉस्पिटल का पता नहीं चला है। अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर कौन है वो जिसने वैक्सीन का इतना बड़ा ऑडर दिया था। आखिर क्यों दिया उस शख्स ने अस्पताल का गलत नाम। इन सारे सवालों के साथ अभी तक कुछ पता नही चल पाया है। वहीं टीकाकरण अधिकारी का यह भी कहना है की सीरम इंस्टीट्यूट से वैक्सीन रवाना होने की उनके पास कोई जानकारी नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उनकी जानकारी के बिना शहर के किसी भी अस्पताल में वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी।

योगी आदित्यनाथ नहीं रहेंगे मुख्यमंत्री?

स्वास्थ्य टीम जुटी हॉस्पिटल का पता लगाने

अब मैक्स हेल्थ केयर हॉस्पिटल के बारे में कोई जानकारी न मिलने पर जबलपुर, भोपाल की स्वास्थ्य टीम इस अस्पताल के वजूद को ढूंढने में जुट गई है। इसके साथ ही सीरम इंस्टीट्यूट से भी पूछताछ की जा रही है कि आखिर कौन एच वो जिसने इतना बड़ा ऑडर दिया था। आपको बता दें कि भोपाल से दी गई जानकारी में सिर्फ अस्पताल का नाम और स्थान जबलपुर ही बताया गया है। इसके अलावा ऐसी किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं दी गई, जिससे यह पता लगाया जा सके की आखिर किसने इतना बड़ा ऑडर दिया था। ऐसे में मध्यप्रदेश के इस महानगर में इस काल्पनिक अस्पताल की खोज एक अनसुलझी पहली का रूप लेती जा रही है। ऐसे में देखना होगा कि यह खोज कहां तक जाती है। क्या स्वास्थ्य टीम इस अस्पताल का पता लगा पाती है की नहीं

READ:  Covishield covaxin vaccinated people not allowed to travel these countries

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।