Home » Madhya Pradesh: Itarsi में Medical College की मांग तेज, लोगों ने शुरू की मुहिम!

Madhya Pradesh: Itarsi में Medical College की मांग तेज, लोगों ने शुरू की मुहिम!

Itarsi Medical College
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Itarsi, Madhya Pradesh | Sourabh Dubey

Itarsi Medical College: मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था की बदहाली किसी से छुपी नहीं है। वहीं इटारसी में कोरोना के दौरान स्वास्थ्य व्यवस्था की बद से बदतर स्थिति देखने को मिली। अब शहर के लोग इटारसी में मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल की मांग कर रहे हैं ताकि कोरोना काल में बनी भयावह स्थिति से निपटा जा सके। इसे लेकर शहर के लोग न सिर्फ जमीनी स्तर पर बल्कि ऑनलाइन भी मुहिम चला रहे हैं। मुहिम के संस्थापक समूह Itarsi Medical College के ऑनलाइन परिचर्चा का समय-समय पर आयोजन हो रहा है। बीते हुई परिचर्चा में विगत गतिविधियों की समीक्षा एवं भविष्य के कार्यों की रूपरेखा तैयार की गई। इस परिचर्चा में मुहिम के संस्थापक सदस्य अवनींद्र दुबे ने अपने विचार भी व्यक्त किए।

कार्ययोजना, युवा शक्ति और पूंजी की आवश्यकता -अवनींद्र दुबे

परिचर्चा में मुहिम के संस्थापक सदस्य अवनींद्र दुबे ने मुहीम की समीक्षा करते हुए तीन महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि यदि आपकी कार्य योजना मजबूत है, तो मुहीम का परिणाम सकारात्मक होगा। दूसरा सबसे महत्वपूर्ण बिंदु कि मुहिम में शामिल होने वाले युवाओं का समय। उन्होंने कहा कि यदि आपके पास 40-50 युवाओं की टोली है, जो भरपूर समय दे सके। जिससे सकारात्मक परिणाम हासिल होंगे। जिसके चलते इटारसी को मेडिकल कॉलेज (Itarsi Medical College) की सौगात मिल सकेगी। तीसरी महत्वपूर्ण बिंदु है कि यदि आपके पास धन है, तो आप मुहीम को मूल रूप तक ले जा सकते हैं। जिस पर सभी सदस्यों ने सहमति जताकर समिति गठन करने का प्रस्ताव दिया।

Bihar CM Nitish Kumar का Yogi पर तंज, कहा- ऐसी नीतियां जनसंख्या कंट्रोल नहीं कर सकती!

राजनैतिक दलों की उदासीनता से युवा आहात

स्वतंत्र पत्रकार सौरभ दुबे ने चुनाव के दौरान एवं समस्त राजनीतिक दलों ने क्षेत्र में स्वास्थ सुविधाओं के उन्नयन के लिए अपने वचन पत्र मे घोषणा की थी। वहीं सरकार आई और गई वर्तमान सरकार को बने भी काफी लम्बा समय हो गया मगर अभी तक मेडिकल कॉलेज स्थापित करने के लिए किसी भी प्रकार की कोई ठोस पहल नहीं की गई है | इसके साथ ही न ही राजनैतिक दलों ने इटारसी में चल रही मुहीम के पक्ष में बयान या पहल की हैं। वहीं कुछ पूर्व पार्षदों ने पत्र लिखा पर शीर्ष नेतृत्व से प्रतिक्रिया तो क्या पत्र प्राप्ति की सूचना तक नहीं मिली।

READ:  Madhya Pradesh: 30 हजार स्कूलों में 12 जुलाई से हड़ताल, नहीं होगी ऑनलाइन पढ़ाई और परीक्षा

क्या कहना है मुहीम के संस्थापक समूह के सदस्य दशरथ चौधरी का

मुहीम के संस्थापक समूह के सदस्य दशरथ चौधरी ने कहा कि इटारसी में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने के लिए समूह के द्वारा जो मुहीम चलाई जा रही है, वह मुहीम आंदोलन में बदलनी चाहिए। उनका कहना है कि आंदोलन जन आंदोलन होना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने इटारसी नगर की जनता जनार्दन से अपील करते हुए कहा कि उक्त आंदोलन में आमजन को जुड़कर आंदोलन को जन आंदोलन बनाना होगा।

मुहीम के प्रचार-प्रसार का प्रस्ताव

कम्प्यूटर विशेषज्ञ राशीद खान ने कहा कि यह मुहीम इटारसी की जनता की मुहीम है। जिसमें इटारसी की जनता की शत- प्रतिशत भागीदारी होनी चाहिए। इसके साथ ही सोशल मिडिया पर लोगों की प्रतिक्रिया जानने के साथ-साथ बैनर पोस्टरों के माध्यम से जन जागरण जरूरी हैं। वहीं उन्होंने कहा की मेडिकल कॉलेज को स्थापित करने के लिए स्टीकर, पम्पलेट के माध्यम से प्रचार प्रसार करना होगा |

सूचना के अधिकार कानून का लेंगे सहारा

सामाजिक कार्यकर्ता परवेज अमीर ने सुझाव दिया कि स्थानीय व्यापारी प्रतिनिधि और चिकित्सकों से चर्चा कर उन्हें मुहीम में शामिल किया जाना चाहिए | संभाग कार्यालय में आरटीआई के माध्यम से यह जानें की किस किस ज़िले से सरकारी मेडिकल कॉलेज के प्रस्ताव संभाग को मिले उसकी प्रतिलीपी व नोट शीट। जिससे कि यह जानकारी अद्यतन हो जाए कि किस जिले से प्रस्ताव भेजा गया है। इस पर मुहीम के मुख्य संस्थापक सदस्य अजय रणजीत सिंह राजपूत ने उन्हें जानकारी देते हुए बताया की उनके द्वारा सूचना के अधिकार के तहत आवेदन तैयार कर लिया गया हैं, और सोमवार को उसे संभागीय कार्यालय जमा कर दिया गया था। साथ ही विगत ज्ञापन और मिडिया क्लिप की प्रतिलिपी जिला कार्यालय में सौंपी गई।

हमले की तैयारी में था अल-कायदा, UP ATS ने दो आतंकियों को पकड़ साजिश को किया नाकाम!

हस्ताक्षर अभियान की रूपरेखा बनी

एक से अधिक सदस्यों ने ज्ञापन के समर्थन में अधिक से अधिक लोगों के हस्ताक्षर कराने के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाने की बात कही। वहीं समर्थक संस्थानों की सील सहित लेटरहैड पर मेडिकल कॉलेज के प्रस्ताव के समर्थन में पत्र बनाए और फ़िर संभागीय आयुक्त और कलेक्टर को मिलें |

READ:  Himachal Pradesh Ex CM Virbhadra Singh passes away: हिमाचल के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का निधन, जानिए 6 बार मुख्यमंत्री पद मिलने की कहानी!

मेडिकल कॉलेज का विजनरी दस्तावेज बनेगा

संस्थापक सदस्य अजय रणजीत सिंह राजपूत ने सभी सदस्यों की मदद से मेडिकल कॉलेज को लेकर एक विजनरी दस्तावेज तैयार करने की बात कही साथ ही झारखंड में सरकार द्वारा प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज की तस्वीर साझा करते हुए सदस्यों से विचार साझा किया। उन्होंने कहा की मेडिकल कॉलेज परिसर में चिकित्सा शिक्षा प्राप्त करने वाले विद्यार्थीयों सहित चिकित्सकों, विद्वानों कर्मचारीयों और मरीजों के लिए सर्वसुविधा युक्त इंफ्रास्टेक्चर होना चाहिए। जिससे सभी स्टेकहोल्डर को मेडिकल कॉलेज खुलने का लाभ प्राप्त हो। उन्होंने कहा कि एक मजबूत टीम बनाई जाऐगी जो इटारसी में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने के लिए अंतिम सांस तक मुहीम जारी रखे इस मुहीम के आप और हम पहले सिपाही हैं। इटारसी में मेडिकल कॉलेज की मुहीम को लेकर परिचर्चा का ऑनलाइन आयोजन प्रति रविवार 4 बजे जूम एप्लिकेशन पर होगा।

परिचर्चा के मुख्य प्रस्तावित बिंदु

1. समूह के सदस्यों को सक्रियता बढ़ाने हेतु प्रेरित करना।
2. सोमवार को कलेक्टर कार्यालय जाकर ज्ञापन एवं संभागीय कार्यालय में जाकर व्यक्तिगत आवेदन के जरिए सूचना प्राप्त करना।
3. मुहिम को जन-जन तक पहुचाँने के लिए फ्लेक्स, बैनर, स्टीकर बनवाना और प्रसारित करना।
4.विभिन्न सामाजिक संगठनों और नेतृत्वजनों को मुहिम में शामिल करने हेतु चर्चा।
5. इटारसी शहर या इटारसी के आसपास मेडिकल कॉलेज हेतु उपयुक्त स्थान तलाशना।
6. जन जागरण के पश्चात धरना प्रदर्शन , ज्ञापन और विशाल रैली की पहल करना विभिन्न समितियों की स्थापना व गठन करना।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.