चीन में 10 दिन में अस्पताल बना, हम 50 दिन में भी 100 बेड का आइसोलेशन वार्ड नहीं बना सके

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk UP

कोरोना वायरस के संक्रमण को व्यापक स्तर पर फैसने से रोकने के लिए सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन का फैसला लिया था मगर लगभग 3 महीनों से लगा ये देशव्यापी लॉकडाउन सफल होता दिख नहीं रहा है । स्वास्थ मंत्रालय की साइट पर दी गई जानकारी के अनुसार, देश में कोरोना मरीजों की संख्या 1,73,763 तक पहुंच गई है। देशभर में अभी 86,422 सक्रिय मामले हैं, जबकि 82,370 मरीज ठीक हो चुके हैं। भारत में कोरोना वायस से मरने वाले लोगों का कुल आंकड़ा 4,971 तक पहुंच चुका है।

आबादी के लिहाज़ से देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। प्रदेश में अब तक संक्रमितों की संख्या 7456 हो गई है। कोरोना से यूपी में अब तक 203 मरीजों की मौत हो चुकी है । वहीं, यूपी में सबसे अधिक कोरोना संक्रमित आगरा में मिले हैं।

अमर उजाला की ख़बर के अनुसार आगरा में कोरोना महामारी से निपटने के लिए तैयारियों की चाल कछुआ जैसी है। संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए 100 बेड का दूसरा नया वार्ड शासन के निर्देश के 50 दिन बाद भी तैयार नहीं हो पाया है। योगी सरकार लगातार कोरोना के कोरथाम में बड़े-बड़े दावे कर रही हो मगर ज़मीन पर हक़ीक़त कुछ और ही नज़र आ रही है ।

यूपी सरकार के अपर निदेशक चिकित्सा शिक्षा और केंद्र की टीम निरीक्षण कर जल्द नया आइसोलेशन वार्ड तैयार करने के लिए कह चुकी है। मगर प्रशासन इसको लेकर गंभीर नहीं दिख रहा है । बाल रोग विभाग की इमारत में ही 100 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनना है, लेकिन अभी तक इसमें ही बच्चे भर्ती किए जा रहे थे। नए आइसोलेशन वार्ड की तैयारी भी अधूरी थी, ऐसे में आठ मंजिला इमारत में स्थित सर्जरी विभाग की पहली मंजिला पर इसको शिफ्ट करना शुरू कर दिया है। 

कोरोना के मरीज बढ़ने पर शासन ने एसएन मेडिकल कॉलेज में 100 बेड के एक और आइसोलेशन वार्ड बनाने के लिए बीते महीने तत्कालीन प्राचार्य को निर्देश दिए थे। इसके लिए बाल रोग विभाग की इमारत भी तय हो गई।  लेटलतीफी और अव्यवस्थाओं के चलते शासन ने 13 मई को तत्कालीन प्राचार्य जीके अनेजा को हटा दिया था। नए प्राचार्य डॉ. संजय काला ने 10 दिन में वार्ड तैयार होने की बात कही, लेकिन अभी तक वार्ड अधूरा ही है। 

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

1 thought on “चीन में 10 दिन में अस्पताल बना, हम 50 दिन में भी 100 बेड का आइसोलेशन वार्ड नहीं बना सके”

  1. Pingback: Kanpur Shelter home : 57 लड़कियां कोरोना संक्रमित, 7 गर्भवती पाई गई | groundreport.in

Comments are closed.