Home » जितना नाम के पीछे अर्थ छुपा है, वैसे ही अंतराष्ट्रीय स्तर पर Ishan Kishan का पेश-ए-अमल होने का स्टाइल है

जितना नाम के पीछे अर्थ छुपा है, वैसे ही अंतराष्ट्रीय स्तर पर Ishan Kishan का पेश-ए-अमल होने का स्टाइल है

Ishan Kishan
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ईशान किशन (Ishan Kishan) नाम ही कितना मधुर है, पीछे लिखा है किशन। बात गंभीरता की नहीं, बात डर की भी नहीं, खौफ तो जैसे उसके बगल से निकल जाए। घरेलू क्रिकेट से उठा। किसी क्रिकेटर के बेटे होने का भी बोझ नहीं। भारतीय क्रिकेट का सपना जैसे पाला होगा। नॉन स्ट्राइक एन्ड पर कोहली, स्तर अंतराष्ट्रीय। जैसे बंसी की लय से लय मिले, वैसी बैट से खनकती आवाज और उसे छूती गेंद एक सुमधुर संगीत साध रही हो।

पीठ को झुकाए, कधों को बोझ से उचाकये, एक हनक सदियों की तोड़ता हुआ, जैसे अभी 18 साल का विराट कोहली हो। एहसास है करियर का पहला कदम है। लड़खड़ाते ही गिर जाना है, लेकिन डर नहीं। डीआरएस इसलिए ले लिया क्योंकि उसे एहसास नहीं था कि वो आउट हो गया है। पहले अंतराष्ट्रीय क्रिकेट के पहला मैच जिसपर उसका भविष्य टिका है। अंदुरनी सी लड़कपन या क्रिकेट की भाषा में बचकाना कहें। नहीं लिखता लेकिन उसे देख युवी की याद आ गई। यही मनमाफिक स्टाइल। युवराज सिंह से तुलना नहीं है। समझाना चाहता हूँ क्लास क्या है। जयसूर्या हल्का सा नजर आया।

READ:  Former Punjab CM Captain Amarinder Singh left Congress party: अमरिंदर सिंह ने छोड़ी कांग्रेस पार्टी, कही ये बड़ी बात

हमारी उम्र के क्रिकेट देखकर और सीखकर बढ़े होने वाले हमउम्र क्रिकेटर में कुछ हीरो नजर आ जाते हैं। ईशान किशन (Ishan Kishan) उन्ही में से किसी का हमउम्र हो सकता है। उसका आज पहला अंतराष्ट्रीय मैच था। हिंदी में पर्दापण, अंग्रेजी में डेब्यू, उर्दू में पहली बार पेश होने का अमल या पहली बार मंजर ए आम पर आना। पहली बारी की पेशे नजर में ईशान किशन (Ishan Kishan) खुद को साबित कर पाया और एक कोशिश में है। भारत इंग्लैंड के बीच दूसरा ट्वेंटी ट्वेंटी मुकाबला।

इंग्लिश टीम टॉस हारती है, और कप्तान मोर्गन टीम को बैटिंग के लिए पवैलियन को ओर जाते हैं। 6 विकेट पर 164 के स्कोर पर इंग्लिश टीम पारी समाप्त करती है। मोर्गन का बारूद काम आया और सबसे ज्यादा 28 रन बनाए और डेविड मलान ने 24 रन की जरूरी पारी खेली। अब वापस बात ईशान की। ईशान ने पहली बख्शीश फिफ्टी के तौर पर भारतीय समर्थकों को दी है। ऐसा करने वाले दुनिया के 44वें और भारत के दूसरे बल्लेबाज बन गए। 56 रन पर कलात्मक चतुराई दिखाने की चक्कर में एलबीडबल्यू हो गए। भारत 17.5 ओवर में लक्ष्य हासिल कर 8 विकेट से जीत गया है। हालांकि ईशान के रूप में एक आक्रामक और लंबे छक्कों के लिए जानने वाला प्लयेर T20 के लिए मिल तो गया है। कप्तान साहब भी 26वीं फिफ्टी पूरी किये हैं, बधाई। सूर्यकुमार दीर्घ गति में दीर्घा से अपना भविष्य देख रहे होंगे।

READ:  Amarinder Singh left Congress party : पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने क्यों कहा अलविदा, जानिए यह खास कारण।

लेख- कार्तिक सागर समाधिया

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Also Read: 4 Pakistan cricketers who got married to an Indian