Home » International Yoga Day 2021: योग से कैसे करें डायबिटीज और ब्लड प्रेशर को कम

International Yoga Day 2021: योग से कैसे करें डायबिटीज और ब्लड प्रेशर को कम

International Yoga Day
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

International Yoga Day: आज पूरे देश में अंतराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) मनाया जा रहा है। क्या है? क्या योग का मतलब सिर्फ कुछ आसन है। आपको बता दें कि योग जीवनशैली है। यह जिंदगी को जीने का एक तरीका है। इसके साथ ही योग हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। प्रतिदिन योग करने से हमारा मन प्रसन्न और प्रफुल्लित रहता है। आपको बता दें कि योग करके हम कई सारी बीमारियों को खुद से दूर रख सकते हैं। इसके साथ ही इनसे राहत भी पा सकते हैं। वहीं अंतराष्ट्रीय योग गुरु सुनील सिंह ने यूट्यूब चैनल हेल्थ ओपीडी के माध्यम से बताया की कैसे है योग से कई सारी बीमारियों को अपने पास आने से रोक सकते हैं। इसके साथ ही योग के क्या फायदे हैं।

क्या है योग का मतलब

अंतराष्ट्रीय योग गुरु सुनील सिंह ने बताया की योग संस्कृत के युज धातु से बना है। जिसका मतलब होता है जोड़ना, मिलाना, संयुक्त करना। इसके साथ ही योग सिर्फ एक आसन तक ही सीमित नहीं है। बल्कि योग एक धरोहर है, परंपरा है, पद्धति है इस जीवन को जीने की। उन्होंने बताया कि प्रतिदिन योग को करने से जीवन सरल, सहज, व सजक हो जाता है।

International Yoga Day: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर जानिए योग का अर्थ

योग किस तरह हमें निरोगी रहने में करता है मदद

योग जीवन जीने की एक पद्धति है। सनातन धर्म में खाना खाने, पानी पीने से लेकर, कितनी सूर्य की किरणों की हमारे शरीर को जरूरत है, इन सभी चीजों का बहुत ख्याल रखा जाता है। योग लोगों को निरोगी रहने में बहुत मदद करता है। योग डायबिटीज, मोटापे, ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों से दूर रखता है। अपनी उचित दिनचर्या व जीवनयापन के साथ सही तरह से योग करने से आप निरोगी रह सकते हैं। सूर्य नमस्कार का अभ्यास करने से इंडोक्राइन सिस्टम, रेसिपिरेटरी सिस्टम के साथ ही डीडॉक्सीफाइड करने में मदद मिलती है।

READ:  What is Revenge Travel?

डायबिटीज में कौन से प्रयाणाम व आसन खासतौर पर हैं असरदार

आपको बता दें की वर्तमान में 11 करोड़ लोग चीन में, 7 से 8 करोड़ लोग भारत में डायबिटीज के मरीज हैं। जेनेटिक की वजह से होता है डायबिटीज, खान पान, योग न करना आदि से डायबिटीज होती है। रोज 40 मिनट तक योग अभ्यास करने से डायबिटीज से दूर रह सकते हैं। अपनी रोज की दिनचर्या में उचित खान पान करना चाहिए। इसके साथ ही सोने से पहले मन का ध्यान करने से डायबिटीज से डायबिटीज को बढ़ने से रोक सकते हैं। सुखासन करने से डायबिटीज को कम कर सकते हैं। दिन में 6 बार भोजन करने, कपालभाती क्रिया, सुखासन, भ्रामरी प्रयाणम, प्रतिप्रसव प्रयाणम आदि करने से डायबिटीज के लोगों के लिए होता है असरदार।

क्या कोई ऐसा आसन भी है, जिसे डायबिटीज के मरीजों को करना नहीं चाहिए

डायबिटीज के मरीजों को कुंबक नहीं करना चाहिए। जिसका मतलब होता है, अपनी सांस को रोकना। डायबिटीज के मरीज यदि अपनी सांस को रोकते हैं, तो यह उनके लिए जानलेवा भी साबित हो सकती है।इसलिए ऐसा करने से उन्हें बचना चाहिए। वहीं डायबिटीज के मरीजों को ज्यादा देर तक सूर्य नमस्कार नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से शरीर का डायबिटीज लेवल नीचे आ जाता है। जिससे उनको स्ट्रोक हो सकता है। अपने खान पान का ख्याल रखना चाहिए।

मानसिक तनाव(Mental Stress) से बचाने वाले योगासन(Yoga Asana)

योग के लिहाज से लाइफस्टाइल और खानपान में किस तरह के बदलाव करने होते हैं शुगर के मरीजों को

डायबिटीज के मरीजों को अपने रोज के खाने को 6 भाग में बांटना होगा। कच्ची सब्जियों का सूप बना कर पीना चाहिए। इससे शरीर का पीएच लेवल सही रहता है। खाने में चावल और रोटी को एक साथ नहीं खाना चाहिए। मैदा भी कम खाना चाहिए। इसके साथ ही शुगर नहीं खाना चाहिए। नमक कम लेना चाहिए। डायबिटीज के मरीजों को ज्वार, चने का आटा मिलाकर उसकी रोटी खानी चाहिए। यह उन्हें खाने को पचाने में मदद करता है।

READ:  Teachers Inviting through loudspeakers : अनोखी पहल, ऑनलाइन क्लास के लिए टीचर्स स्टूडेंट को लाउडस्पीकर से बुला रहे 

ब्लड प्रेशर में कौन से आसन और प्राणायाम खासतौर पर फायदेमंद हैं?

जिन्हें ब्लड प्रेशर की बीमारी है, उन्हें दिनभर में 14 से 16 ग्लास जलपान करना चाहिए। आपको बता दें कि ब्लड प्रेशर वाले मरीज को अपनी सांस को रोकना नहीं चाहिए। उन्हें पद्मासन, वज्र आसन करना चाहिए। इसके साथ ही सूर्य नमस्कार को धीरे धीरे करना चाहिए। प्रयाणम में अनुलोम विलोम को निरंतर करना , भ्रामरी प्रयाणाम, ओम मंत्र का उच्चारण के साथ साथ ध्यान भी करना चाहिए। ऐसा करने से में शांत होता है। इसके साथ ही गुस्सा भी काम आता है। वहीं रात में सोने से पहले ध्यान कर घड़ी की आवाज को सुनने से अपने मन पर काबू किया जा सकता है। शशांक आसन भी ब्लड प्रेशर के मरीज के लिए बहुत ही लाभदायक है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।