Home » कोविड से जंग में पूरी दुनिया भारत के साथ, पाकिस्तान ने भी बढ़ाया मदद का हाथ

कोविड से जंग में पूरी दुनिया भारत के साथ, पाकिस्तान ने भी बढ़ाया मदद का हाथ

कोरोना से जंग में पूरी दुनिया भारत के साथ
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भारत कोरोना की दूसरी लहर में तबाह होने की कगार पर पहुंच चुका है। हर दिन 3 लाख से ज्यादा कोरोना के मामले भारत में आ रहे हैं। संकट के समय में दुनियाभर के देशों ने भारत की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है और कोविड से जंग में एक साथ तटस्थता के साथ खड़े रहने का भरोसा दिया है।

जहां अमेरिका, चीन, इज़रायल और यूरोपीय देशों ने भारत को हरसंभव मदद का भरोसा दिया है। वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी इस संकट के समय में भारत के साथ खड़े रहने का भरोसा दिया और कहा कि मानवता के लिए खतरा बनते जा रहे कोरोना वायरस से हमें साथ मिलकर लड़ना होगा।

कोविड से जंग: भारत के साथ खड़ी हुई दुनिया

भारत में जिस तरह दूसरी लहर तबाही मचा रही उसके सामने देश का हेल्थ सिस्टम चरमरा चुका है। मरीज़ों को ऑक्सीज़न और दवाईयों की कमी का सामना करना पड़ रहा है। स्वास्थ्य सेवाएं अपनी क्षमता से अधिक दबाव का सामना कर रही है। हालात यह हैं कि हर दिन हज़ारों लोग मौत के मुंह में जा रहे हैं और हर दिन वायरस लाखों लोगों को अपनी ज़द में ले रहा है। ऐसे में विश्व के तमाम देशों ने भारत को मदद का भरोसा दिया है।

READ:  Samba first district to complete vaccination for all people above 18 years

ALSO READ: PM CARES Fund से देश भर में 551 Oxygen Plant का निर्माण जल्द: PMO

वाईट हाउस के सुरक्षा सलाहकार Jake Sullivan ने ट्विटर पर भारत की स्थिति पर चिंता व्यक्ति करते हुए लिखा कि अमेरिका भारत में फैले कोरोना को लेकर चिंतित है। हम भारत को सभी प्रकार की मदद और सहयोग के लिए दिन रात काम कर रहे हैं, क्योंकि अब तक भारत ने यह जंग बड़ी वीरता के साथ लड़ी है।

अमेरिकी सेक्रेटरी एंटनी ब्लिंकन ने भी भारत के स्थिति पर चिंता जताते हुए हर संभव मदद का भरोसा दिया।

भारतीय मूल के अमेरिकी सांसद राजा कृष्णमूर्ती ने राष्ट्रपति बाइडेन से ऑक्सफोर्ड की एस्ट्रज़ेनेका वैक्सीन के डोज़ उन देशों को भेजने के लिए अनुरोध किया जो इस महामारी से बुरी तरह प्रभावित हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका अपने स्टॉक में जमा 4करोड़ वैक्सीन के डोज़ पर बैठी हुई है। वैक्सीन पहले उन देशों को भेजे जहां महामारी तेज़ी से पैर पसार रही है। यह वैश्विक अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए बेहद ज़रुरी है।

READ:  Gujarat HC stays certain sections of anti-conversion law

यूके ने मेडिकल इक्विपमेंट भेजने का दिया भरोसा

फ्रांस का मिला साथ

फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुअल मैक्रों ने भी भारत के साथ तटस्थता के साथ खड़े रहने का भरोसा दिया और कहा कि फ्रांस आपके साथ है। हम हर संभव मदद करेंगे। यूरोपियन यूनियन ने भी भारत की स्थिति पर चिंता जताई है और हर ज़रुरी मदद का भरोसा दिया है।

साउदी अरब भेजेगा ऑक्सीज़न

भारत में ऑक्सीज़न के संकट को देखते हुए साउदी अरब 80 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीज़न भारत भेजेगा। यह अडानी ग्रुप की मदद से भारत लाई जाएगी। साउदी में भारत की एंबेसी ने इस मदद के लिए वहां के स्वास्थ्य मंत्रालय को धन्यवाद कहा।

सिंगापुर ने 4 क्रायोजेनिक ऑक्सीज़न टैंक भारत भेजे हैं ताकि ऑक्सीज़न के संकट को पाटा जा सके। रुस, यूएई और इज़रायल से भी भारत को ऑक्सीज़न और दवाईयों को लेकर मदद मिलने का भरोसा मिला है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।