अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो ने कहा- चीन निश्चित रूप से भारत के लिए ख़तरा पैदा करने वाला है

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report । News Desk

लद्दाख में लच रहे भारत-चीन सीमा विवाद पर अब अमेरिका ने भी चिंता ज़ाहिर करते हुए चीन की बढ़ती सैन्य शक्ति को लेकर नज़र रखना शुरू कर दिया है । अमेरिकी विदेश मंत्री माइकल पोम्पियो ने रविवार अमेरिकी न्यूज़ चैनल फॉक्स को दिए एक इंटरव्यू में भारत-चीन सीमा विवाद पर कई सवालों के जवाब दिए।

अमेरिकी विदेश मंत्री माइकल पोम्पियो ने रविवार इंटरव्यू में कहा कि चीनी सैन्य क्षमताओं के खतरे को देखते हुए अमेरिका भारत समेत दुनिया भर के कई देशों के साथ हाथ मिला सकता है। उन्होंने कहा- ‘चीन सेना ने जो उन्नति की है वो सच है। चीन लगातार अपनी सैन्य क्षमताएं तेज़ी से बढ़ा रहा है। हमारा रक्षा विभाग इस खतरे को समझने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। चीन अपने फायदे के लिए चालें चल रहा है और पूरे इलाके के लिए खतरा पैदा कर रहा है। वर्तमान में जैसा हम भारत-चीन विवाद देखने को नज़र आ रहा है।

READ:  CM Kejriwal announces weekend curfew in Delhi. Check all details

चीन निश्चित रूप से कुछ करेगा

फॉक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो भारत-चीन सीमा और दक्षिण चीन सागर में चीन के आक्रामक रवैये को लेकर कहा , चीनी कम्युनिस्ट पार्टी बहुत लंबे समय से इस मिशन पर है और इसके लिए कोशिशें कर रही है। वे अपने फायदे के लिए तमाम चालों का इस्तेमाल करेंगे। जिन दो समस्याओं की बात की जा रही है, ये वो खतरे हैं जो चीन की तरफ से लंबे वक्त से बने हुए हैं। भारतीय सीमा पर दिख रहे खतरे के पीछे भी चीन लंबे वक्त से है। वे निश्चित रूप से वहां कुछ करेंगे जिससे उनका फायदा हो। लेकिन वहां जिन भी समस्याओं को आपने देखा है, वो सिर्फ धमकियां हैं जिसे वो लंबे समय से दे रहे हैं।

READ:  Coronavirus के डर से Holi खेले या नहीं?

चीन के ख़िलाफ एकजुट होना पड़ेगा

इंटरव्यू में आगे बोतले हुए अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो ने कहा,“ हम भारत, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया, जापान और ब्राजील समेत दुनिया के अपने सभी साथी देशों के अच्छे साझेदार हो सकते हैं। इससे यह भी तय हो जाएगा कि पश्चिमी देशों में आजादी का जो अमेरिकी मॉडल है वो इन देशों में भी हो

इंटरव्यू में पोम्पियो से चीन के उईगर मुस्मलानों को लेकर जब सवाल किया गया तो पोम्पियो ने इस पर कहा-पिछले सप्ताह अमेरिकी संसद में चीन के उईगर मुसलमानों से जुड़ा बिल लाया गया था। मैं सांसदों से अपील करूंगा कि वे चीन की कम्युनिस्ट पार्टी को आगे बढ़ने से रोकने और अमेरिकी लोगों को सुरक्षित रखने में प्रशासन की मदद करें।

READ:  प्रशासन की तानाशाही और छात्रों का डीपी विरोध, कब खुलेगा IIMC?

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।