Home » प्रो. बृजेश राय के निलंबन का समर्थन करने वाले IIT छात्रोंं के फेसबुक, ट्वीटर अकाउंट्स की निगरानी

प्रो. बृजेश राय के निलंबन का समर्थन करने वाले IIT छात्रोंं के फेसबुक, ट्वीटर अकाउंट्स की निगरानी

iit guwahati professor brajesh rai iit students protests facebook twitter and other social media accounts
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report News Desk | New Delhi

IIT- गुवाहाटी के प्रोफेसर बृजेश राय  का मामला अब तूल पकड़ता नजर आ रहा है। ख़बर है कि प्रोफेसर बृजेश राय को निलंबित करने के बाद जो छात्र प्रोफेसर राय के समर्थन में उतरे हैं उन्हें एडमिन द्वारा धमकाया जा रहा है।

आईआईटी गुवाहाटी में भ्रष्टाचार के मामले को उजागर करने वाले प्रोफेसर बृजेश राय के समर्थन में सरकार और प्रशासन का विरोध कर रहे छात्रों को कथित तौर पर लगातार धमकी मिल रही है और उन सभी के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर भी नज़र रखी जा रही है। प्रशासन लगातार छात्रों पर मामले को ख़त्म करने का दबाव बना रहा है।  

बता दें कि इलेक्ट्रॉनिक्स और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (ईसीई) विभाग के सहायक प्रोफेसर बृजेश राय, जिन्होंने लगभग 300 आरटीआई दायर कर IIT-G प्रशासन की कई संदिग्ध गतिविधियों को उजागर कर सबके सामने लाया था।

प्रोफेसर राय के मुताबिक संस्था में विभिन्न मामलों में भ्रष्टाचार हुआ और साथ ही स्टाफ चयन के मामले में भी। एक साल में लगभग 50 लोग अवैध रूप से कार्य करते पाए गए।  

READ:  Govt ready for discussion on every issue: PM Modi in all-party meeting

यह भी पढ़ें : भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने पर IIT प्रोफेसर से छीन ली गई नौकरी

वहीं इस मामले में छात्रों ने आरोप लगाया है कि संस्था के निदेशक टी.जी सीताराम ने हाल ही में अपने बंगलो और कार्यालय पर 40 लाख खर्च किए जिसमें एक टेबल के लिए 1.8 लाख रुपये तक खर्च किय गए थे।

अनुसंधान के रिसर्च स्कॉलर विक्रांत सिंह द्वारा दायर एफआईआर के मुताबिक, IIT-G के निदेशक और डीन ने अगस्त में एक पांच सितारा होटल में एक बैठक की थी और कॉलेज के फंड से कथित तौर पर बिलों का भुगतान किया था।

उधर IIT-G प्रशासन ने हॉस्टल के प्रतिनिधियों को ईमेल भेजकर उन सभी छात्रों के नाम पूछ रहा है जिन्होंने मार्च में हिस्सा लिया था और हॉस्टल के प्रतिनिधियों को छात्रों नाम बताने के लिए 1 दिन का समय दिया गया था।

इसके बाद हॉस्टल प्रतिनिधियों द्वारा छात्रों के नाम की जानकारी न दिए जाने पर  IIT-G के व्यवस्थापक फिर से उन सभी छात्रों के नाम पूछते हैं और धमकी देते हैं कि यदि वे नाम नहीं देते हैं तो उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

READ:  IND vs ENG W T20: हरलीन देओल ने बाउंड्री लाइन पर 'सुपरवुमेन' बन पकड़ा हैरतअंगेज कैच, हर कोई रह गया हैरान

अगस्त 2019 में IIT गुवाहाटी ने आदेश जारी करते हुए कहा था कि छात्रों, फैकल्टी और स्टाफ सदस्यों की सोशल मीडिया गतिविधियों पर नज़र रखी जाए। अब प्रशासन ने प्रोफेसर बृजेश राय को निलंबन का नोटिस थमा दिया है। निलंबन के बाद मामला तूल पकड़ता दिख रहा है।