भूपेंद्र सिंह हुड्डा को चुनाव जितवा चुके बद्रीनाथ को मिला IIMCAA Award 2020

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report News Desk | New Delhi

नई दिल्ली स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान (Indian Institute of Mass Communication) का वार्षिक वार्षिक मिलन समारोह का सफलतापूर्वक बीती 9 फरवरी को हुआ। इस दौरान मीडिया फील्ड में बेहतर काम करने वाले आईआईएमसी के पूर्व छात्रों को इफको इमका अवार्ड (IFFCO IIMCAA AWARD) से नवाजा गया। देशभर के प्रमुख मीडिया संस्‍थानों और कई अन्य-अन्य क्षेत्रों में विभिन्न उपलब्धियां हासिल कर रहे हैं। इनमें राजनितिक रणनीतिकार के रूप में उभर रहे बद्रीनाथ (Badrinath) को इमेज बिल्डिंग कैटेगरी में बेस्ट पीआर अवॉर्ड से मिला।

आईआईएमसी बीते लंबे अरसे से मीडिया, एंटरटेनमेंट, विज्ञापन, पीआर जगत को प्रशिक्षित अभ्यर्थी देकर मजबूत बना रहा है साथ ही भारतीय राजनीति में बेहद अहम योगदान निभा रही चुनावी रणनीति आधारित कंपनी IPAC को अपने मेधा से भी प्रभावित कर रहा है। दरअसल छवि सुधारने के लिए बेस्ट पीआर अवॉर्ड से नवाजे गए बद्री नाथ आईआईएमसी के 2015-16 बैच के विज्ञापन और जनसंचार के छात्र रहे हैं। इसके बाद 3 साल तक प्रशांत किशोर की टीम के अहम सदस्य रहे।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में ‘यूपी को ये साथ पसंद है’, ‘राहुल संग खाट सभा’, ’27 साल यूपी बेहाल’, पंजाब विधानसभा में ‘काफ़ी विद कैप्टन’, ‘हल्के विच कैप्टन’, आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में ‘जगन की पदयात्रा’ जैसे महत्वपूर्ण चुनावी अभियानों का हिस्सा रहे। इसके बाद आईपै क से बाहर आकर उन्होंने स्वतंत्र रूप से चुनावी रणनीति की ओर बढ़े।

इस दरम्यान उन्होंने लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के लिए काम किया. इस दौरान उन्होंने प्रमुख रूप से सपा प्रमुख अखिलेश यादव के लोकसभा क्षेत्र आजमगढ़ में चुनावी रणनीति को तैयार करने का अहम जिम्मा संभाला। इसके बाद हरियाणा विधानसभा चुनाव में वे कांग्रेस के साथ जुड़े रहे।

ALSO READ:  गढ़ी सांपला में हुड्डा की ऐतिहासिक जीत, कांग्रेस ने ली राजनीतिक रणनीतिकार बद्रीनाथ की सेवाएं

इसमें उन्होंने हरियाणा कांग्रेस के प्रमुख भूपिंदर सिंह हुड्डा के विधानसभा क्षेत्र गढ़ी सांपला किलोई में चुनावी माहौल को अपने पक्ष में लाने में महती भूमिका निभाई. उत्तर प्रदेश के मऊ जिले से वास्ता रखने वाले बद्री ने हेल्थ जर्नलिज्म की पढ़ाई यूनिसेफ से भी की है.

आईआईएमसी अपने पूरा छात्रों को उनका मनोबल बढ़ाने और संस्‍थान से निकलकर उसका नाम रोशन करने के लिए उन्हें सम्मानित करता है। इस बाबत जनसंचार की अलग-अलग कैटेगरी में 36 श्रेणियों में छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। इसमें विजेताओं को पुरस्कार स्वरूप 21 हजार से 51 हजार रुपये तक का चेक, ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र प्रदान किए। इसके अतिरिक्त 35 छात्रों को स्कॉलरशिप भी वितरित की गई।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.