Home » HOME » अगर बंगाल में भाजपा जीती तो कौन बनेगा मुख्यमंत्री?

अगर बंगाल में भाजपा जीती तो कौन बनेगा मुख्यमंत्री?

VD sharma MP BJP chief
Sharing is Important

कौन बनेगा मुख्यमंत्री : अपनी बंगाल यात्रा के दौरान मीडिया से बातचीत में अमित शाह ने बाहरी व स्थानीय के विवाद पर कहा कि जब ममता बनर्जी कांग्रेस में थीं, तब इंदिरा गांधी या नरसिम्हा राव या फिर कांग्रेस के अन्य केंद्रीय नेता बंगाल आते थे, तो क्या वह बाहरी थे? इसी बीच गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक सीटें जीतकर भाजपा की सरकार बनेगी और बंगाल का ही धरती पुत्र राज्य का मुख्यमंत्री बनेगा ।

उन्होंने कहा कि बंगाल खुले मन के लोगों का राज्य है, संकीर्ण मन के लोग यहां नहीं हैं। लेकिन, वह यह स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि ममता बनर्जी से यहीं का नेता लड़ेगा और मुख्यमंत्री भी बंगाल का ही नेता बनेगा। बनर्जी ऐसे देश की कल्पना करती हैं, जहां एक राज्य के लोग दूसरे राज्य में न जायें?

DDC Election Results: First Win For BJP From Srinagar

अपने दो दिवसीय दौरे के आखिरी दिन बोलपुर में रोड शो के बाद संवाददाता सम्मेलन में अमित शाह ने कहा कि बंगाल में राष्ट्रपति शासन की कोई तैयारी नहीं है। केंद्र की सरकार और अमित शाह चाहते हैं कि बंगाल की ममता बनर्जी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करे।

READ:  रवीश कुमार जन्मदिन: भारत में रात का अंधेरा न्यूज़ चैनलों पर प्रसारित ख़बरों से फैलता है

बीजेपी से कौन बनेगा मुख्यमंत्री

बता दें कि बंगाल में बीजेपी की ओर से मुख्यमंत्री उम्मीदवार का चेहरा बनने की होड़ दिलचस्प मोड़ पर पहुंच गई। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के पसंदीदा लोग भी इस उम्मीदवारी के लिए दावेदारी जताने लगे हैं।

पश्चिम बंगाल के मौजूदा बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष से लेकर मेघालय के पूर्व राज्यपाल तथागत रॉय तक, केंद्रीय मंत्री से लेकर राज्यसभा सांसद तक, पार्टी में कई ऐसे लोग हैं, जो बंगाल में पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री का चेहरा बनने की चाहत रखते हैं। लेकिन जहां तक पार्टी का सवाल है तो वो अब आरएसएस के दिशा-निर्देशों पर अधिक काम कर रही है।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने बिना सीएम चेहरे के पार्टी के चुनाव में उतरने के संकेत दिए हैं। उनका कहना है कि पार्टी चुनाव जीतती है तो मुख्यमंत्री के नाम का फैसला पार्टी के निर्वाचित विधायकों की ओर से किया जाएगा।

READ:  अभिव्यक्ति की आज़ादी पर मंड़राते ख़तरे को पहचानना ज़रूरी…!

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Scroll to Top
%d bloggers like this: