IAS Parikipandla Narahari new vice chancellor of Makhanlal Chaturvedi National University of Journalism and Communication, MCU BHOPAL NEW VC IAS P NARHARI, IAS Parikipandla Narahari READ 5 KEY POINTS

इंदौर को ‘क्लीनेस्ट सिटी’ बनाने वाले IAS बने MCU के कुलपति, पी. नरहरि के बारे में 5 खास बातें…

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोमल बड़ोदेकर | भोपाल

मध्य प्रदेश में सत्ता बदलते ही अब सरकारी संस्थानों में भी इस्तीफों, तबादलों और भर्तियों का दौर शुरू हो गया है। इसी कड़ी में मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित एशिया के सबसे पहले राष्ट्रीय पत्रकारिता और संचार विश्वविद्यालय माखनलाल यूनिवर्सिटी में कुलपति जगदीश उपासने के इस्तीफे के बाद बतौर कार्यवाहक कुलपति IAS पी. नरहरि को नियुक्त किया गया है। आखिर कौन है IAS पी. नरहरि… इन 5 बिन्दुओं में जानियें…

1.) जगदीश उपासने की जगह बतौर कार्यवाहक कुलपति के रूम में नियुक्ति
IAS पी. नरहरि मध्य प्रदेश शासन के जनसंपर्क विभाग के सचिव हैं। कुलपति जगदीश उपासने के इस्तीफे के बाद पी. नरहरि को स्थाई कुलपति की नियुक्ति तक कार्यवाहक कुलपति के रूप में नियुक्त किया गया है।

2.) तेलंगाना में जन्म, 1999 में IES के लिए चुने गए
1 मार्च 1975 को तेलंगाना के करीमनगर में जन्मे नरहरि ने उसमानिया यूनिवर्सिटी से मेकेनिकल इंजीनियरिंग और इकोनोमिक्स में एमए किया है। 1999 में नरहरि IES के लिए चुने गए, लेकिन साल 2001 में उन्होंने एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस में कदम रखा।

3.) कई शहरों के DM और कलेक्टर रह चुके हैं
साल 2002 में नरहरि छिंदवाड़ा के कलेक्टर बने। इसके बाद वे नगर निगम कमिश्नर, जिला परिषद के सीईओ और सिवनी 2007, सिंगरौली (2009) और ग्वालियर (2011) और इंदौर (2015-2017) डीएम और कलेक्टर रह चुके हैं।

4.) इंदौर को क्लीनेस्ट सिटी बनाने में अहम भूमिका
स्वच्छ भारत अभियान के तहत इंदौर को देश का सबसे साफ शहर बनाने में IAS पी. नरहरि की अहम भूमिका रही। वर्तमान में नरहरि बतौर सचिव राजस्व का भी जिम्मा संभाल रहे हैं।

5.) आमिर के शो ‘सत्यमेव जयते’ में हुई इस काम की सराहना
विकलांग व्यक्तियों, वरिष्ठ नागरिकों, महिलाओं को आसानी से सार्वजनिक स्थानों तक आसानी से पहुंचाने के लिए पी. नरहरि ने ग्वालियर जिले को करीब 95 फीसदी तक बैरियर फ्री करवाने में अहम भूमिका निभाई। जिसके चलते ग्वालियर इस मामले में देश के अन्य जिलों के लिए एक उदाहरण बना और इस कामयाबी के चलते इस काम को अभिनेता आमिर खान के शो सत्यमेव जयते में सराहा गया।