Home » IPL Bio Bubble : जानिए कैसा था ‘बायो बबल’ का सुरक्षा इंतज़ाम

IPL Bio Bubble : जानिए कैसा था ‘बायो बबल’ का सुरक्षा इंतज़ाम

IPL bio bubble
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

IPL Bio bubble: कोरोना संक्रमण को देखते हुए आईपीएल में खिलाड़ियों की भरपूर सुरक्षा के लिए बायो – बबल (IPL Bio Bubble) को स्थापित किया गया था, पर महामारी की इस दूसरी लहर ने कड़े सुरक्षा इन्तेज़ामों के बावजूद भी बायो बबल में एंट्री कर ली। इसी वजह से मंगलवार को हुई बैठक में बीसीसीआई ने टूर्नामेंट को अनिश्चितरूप से स्थगित करने का फैसला लिया। सत्र के 29 मुकाबले हो जाने के बाद ये खबर सामने आयी ।

केकेआर के खिलाड़ी वरुण चक्रवर्ति को पिछले हफ्ते इंजरी स्कैन करवाने के लिए अस्पताल ले जाया गया था, ऐसा माना जा रहा है की वह वही पर संक्रमित हुए । इसके बाद धीमे धीमे तीन और फ्रैंचाइज़ी में कोरोना संक्रमितों की खबरें आयी , फिर आईपीएल को स्थगित ही कर दिया गया ।

https://groundreport.in/oxygen-concentrator-what-is-oxygen-concentrator-how-it-works-know-everything-about-it/


न्यूज़ एजेंसी पीटीआई ने आईपीएल में खेल रहे कुछ खिलाड़ियों से बातचीत कर ये जानने की कोशिश की कि किस प्रकार की सुविधा उन्हें बायो बबल (Bio Bubble) में दी गयी थी और किस प्रकार का माहौल वहां पर था। उन्होंने जानकारी दी की बबल में कोरोना संक्रमण की खबरे आने से सभी में डर का माहौल था । कुछ खिलाड़ियों ने बताया की पिछले साल के मुकाबले इस बार का बबल कमज़ोर था।

पिछले सत्र यूएई में करवाया गया था। एक खिलाड़ी ने बताया की पिछली बार टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले कई पॉजिटिव केस आये थे पर फिर भी सफलता से टूर्नामेंट करवाया गया था । जानकारी मुताबिक यूएई में सभी सुविधाएं बेहतर थी । खिलाड़ी ने नाम न बताने की शर्त रखते हुए ये जानकारी भी दी की यहां लोग अलग अलग फ्लोर से आ जा रहे थे। कुछ लोग स्विमिंग पूल का इस्तेमाल भी कर रहे थे, प्रेक्टिस की सुविधाएं काफी दूर थी। भारतीय अंडर 19 टीम के सदस्य रहे श्रीवत्स गोस्वामी ने बताया कि वो शुरू से ही आईपीएल का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने कहा की इस बात का संदेह नहीं है कि किसी खिलाड़ी या सहयोगी सदस्य ने कोरोना के मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का उल्लंघन किया है। वो सनराइजर्स हैदराबाद की टीम का हिस्सा थे।

https://groundreport.in/twitter-india-suspends-kangana-ranaut-twitter-account-also-these-five-celebrities-accounts/

READ:  घटिया सोच ने दिया बलात्कार को जन्म

उनका कहना था की बबल (bio bubble) में उनकी देखभाल अच्छी तरह से हो रही थी, पर वायरस की बबल में आने की खबर सुनके सभी असहज हो गए थे । इस सब का प्रभाव विदेशी खिलाड़ियों पे ज़्यादा था, बाहर की खबरें देख कर वह और चिंतित थे। कई खिलाड़ी इस बात से भी डर गए थे की उनके घर वालों को किसी प्रकार की समस्या न हो जाए। बाहर लोगों की गंभीर स्थिति देख कर सभी में डर का मौहल था । विदेशी जब ये सब सोशल मीडिया पर देखते थे, तो उनके लिए ये और भी भयावह होता था ।

बाहर की स्थिति को लेकर स्टाफ और कई खिलाड़ियों के बीच तकरार भी हो रही थी, कुछ कहते थे की आईपीएल होगा तो कुछ इसका विपरीत। क्रिकेटर से कमेंटेटर बने दीप दासगुप्ता ने बताया की पिछले साल के मुकाबले इस बार भी बबल ठीक था, और कमज़ोर होने की सभी बातों को नकार दिया। उन्होंने कहा की वह उसमे पूर्णता सुरक्षित महसूस करते थे, पर जब दिल्ली में मामले बढ़े तब वह चिंतित हो गए क्योंकि उनके माता पिता नोएडा में रहते है । वही, एक और खिलाड़ी ने ये जानकारी भी साझा की कि शुरुआत में बबल मजबूत था पर जैसे जैसे टूर्नामेंट बढा, वह कमज़ोर होता गया ।

READ:  Back to back resignations : सियासत को लगा ग्रहण, विजय रुपाणी के बाद इस सीएम ने भी दिया इस्तीफा

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।