How to get coronavirus vaccine and what is registration process for covid19 vaccine

खुद को सुरक्षित रखते हुए कैसे करें कोरोना मरीज़ की घर में देखभाल

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना मरीज़ की देखभाल कैसे करें: कोरोना महामारी अब आपके घरों तक पहुंच चुकी है। जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक इस वायरस से लड़ने के हर ज़रुरी तरीके हमें पता होना चाहिए। भारत में कोरोना का सामुदायिक प्रसार हो चुका है। अब आपने गौर किया होगा कि कई लोग संक्रमित होते जा रहे हैं।

यह बीमारी आपके भी घर आ सकती है, इसलिए खुद को तैयार रखिये। हम आपको कोरोना गाईड के तहत कुछ ज़रुरी टिप्स दे रहे हैं। अगर आपके घर का कोई सदस्य संक्रमित है और वह घर पर ही आईसोलेट हैं तो आप किस तरह खुद को सुरक्षित रखते हुए उनकी देखभाल कर सकते हैं यह टिप्स हम इस आर्टिकल में साझा कर रहे हैं।

ALSO READ: अगर आपकी रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है तो यह आर्टिकल ज़रुर पढ़ें

कोरोना संक्रमित के लिए यह बीमारी जितनी स्ट्रेसफुल है उतनी उनके साथ रहने वाले लोगों के लिए भी है क्योंकि पूरे 14 दिन तक संक्रमित व्यक्ति के साथ रहने वाले लोगों के भी संक्रमित होने का खतरा बना रहता है। लेकिन ऐसे कुछ तरीके हैं जिनका अगर आप पालन करें तो खुद संक्रमित हुए बिना कोरोना मरीज़ की देखभाल की जा सकती है।

READ:  भारत ने तैयार की कोरोना वैक्सीन, 15 अगस्त तक लॉन्च करने की तैयारी

कैसे करें कोरोना मरीज़ की देखभाल-

सबसे पहले अपना टेस्ट करवाएं

अगर आपके घर का कोई सदस्य पॉज़िटिव आया है और आप उनके नज़दीकी संपर्क में रहे हैं तो तुरंत अपना आरटीपीसीआर टेस्ट करवाएं। हो सकता है कि आपका टेस्ट निगेटिव आए लेकिन 6-7 दिन के अंदर दोबारा टेस्ट करवाएं क्योंकि वायरस के संपर्क में आने के 6 से सात दिन तक टेस्ट रिज़ल्ट निगेटिव आ सकता है।

घर में पॉज़िटिव वातावरण बनाएं

कोरोना मरीज़ का अगर ठीक से ध्यान रखा जाए तो इस बीमारी से लड़ा जा सकता है और व्यक्ति ठीक हो सकता है। अगर मरीज़ को मामूली लक्षण हैं तो घर पर वह आराम से ठीक हो सकता है। इसलिए मरीज़ को तनाव से दूर रखें और खुद भी तनाव में न आएं।

ALSO READ: घर पर ही संभव है कोरोना का इलाज, पर बरतें जरूरी सावधानियां

मरीज़ से दूरी रखें

अगर आपकी रिपोर्ट निगेटिव है और आपको कोई लक्षण नहीं तब आपको मरीज़ से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाकर रखनी होगी। कोरोना मरीज़ को अलग कमरे में आईसोलेट करें और घर का कोई सद्स्य उनसे नज़दीकी संपर्क में न रहे। अगर मजबूरी में आपको मरीज़ के करीब जाना भी पड़े तब भी कोशिश करें कि आप ज्यादा देर उनके पास न रुकें। घर में मास्क पहने और सैनेटाईज़र का इस्तेमाल करें। कोरोना मरीज़ द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाला बाथरुम इस्तेमाल न करें।

READ:  कानपुर : 200 से अधिक कोरोना मरीज़ों के साथ घटी इस घटना से हैरान हैं डॉक्टर

घर की खिड़कियां खुली रखें

घर में हवा का संचार बहुत ज़रुरी है, अगर धूप भी आ रही है तो अच्छी बात है। कोशिश करिये की घर के खिड़की दरवाज़े खुले रहे। बंद जगह पर वायरस ज़्यादा देर रह सकता है।

मास्क का करें इस्तेमाल

घर में सभी सद्स्य मास्क का इस्तेमाल करें। मरीज़ का मास्क लगाना तो अनिवार्य है ही घर के बाकि सद्स्य भी मास्क का उपयोग करें।

बार-बार हाथ धोएं और सर्फेस सैनेटाईज़ करें

घर के सभी सद्स्य 20 सेकेंड तक अच्छी तरह अपने हाथ धोएं, 60 प्रतिशत अल्कोहल युक्त सैनेटाईज़र का उपयोग करें। कोशिश करें कि कोरोना मरीज़ द्वारा छुए हर सर्फेस को सैनेटाईज़र स्प्रे से सैनेटाईज़ करें जैसे दरवाजे़ की कुंडी, स्विच बोर्ड, फ्लश, आदी। सैनेटाईज़र स्प्रे हर सदस्य अपने पास ही रखे।

स्वस्थ खाना खाएं

इस दौरान घर में अच्छा और पोषण वाला खाना बनाएं। मरीज़ के साथ-साथ हल्दी वाला दूध, विटामिन सी युक्त फल का सेवन करें। ज्यादा तेल का उपयोग न करें। कोरोना संक्रमित व्यक्ति को बार-बार भूख लगती है ऐस में उन्हें भोजन के बाद बीच-बीच में सूखे फल, दूध और फल आदि देते रहें।

READ:  26-yr old swimming coach dies in Delhi: Assessing age-wise COVID-19 deaths

दवाईयों का रखें ध्यान

डॉक्टर दी गई दवाईयां मरीज़ को समय पर लेने को कहें। सभी ज़रुरी दवाईयां समय पर लेना ज़रुरी हैं।

दिन में दो बार स्टीम और व्यायाम

कोरोना संक्रमित व्यक्ति को दिन में दो बार स्टीम लेना होता है। साथ ही अगर वे ब्रीदिंग एक्सरसाईज़ कर सकें तो यह बेहतर होता है।

आक्सीमीटर से पल्स और ऑक्सीज़न चेक करें

कोरोना संक्रमित व्यक्ति अपने पास ऑक्सीमीटर और थर्मोमीटर रखें। उनको दिन में तीन बार रीडिंग लेना है और नोट करना है। ऑक्सीज़न लेवल कम होने पर नज़दीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

अपने पास तैयार रखें ज़रुरी नंबर की लिस्ट

कोरोना मरीज़ को चेस्ट में दर्द और ऑक्सीज़न लेवल कम होने पर नज़दीकी कोविड अस्पताल ले जाना होता है। इसके लिए सभी ज़रुरी नंबर अपने पास तैयरा रखें। एंबुलेंस और हेल्पलाईन नंबर पर कॉल करें।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।