ममता सरकार

बंगाल में भाजपा के जीतने की कितनी है संभावना?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 19-20 दिसंबर को दो दिवसीय यात्रा पर बंगाल जा रहे हैं। इस दौरान वे इन नेताओं के साथ अलग से एक बैठक करेंगे। मिदनापुर से लौटने के बाद अमित शाह 19 दिसंबर की शाम को कोलकाता में सभी नेताओं से मुलाकात करके उनके लिए योजना का खाका तैयार करेंगे। अब सवाल जो हर तरफ़ से उठ रहे हैं कि बंगाल में भाजपा के जीतने की कितनी है संभावना?

2019 के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में बीजेपी ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। चुनाव में बीजेपी ने ममता के गढ़ में बढ़ी सेंध लगाते हुए 18 सीटों पर ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी। पश्चिम बंगाल में कुल 294 विधानसभा सीटें हैं और राज्‍य में वर्ष 2021 में विधानसभा चुनाव होने हैं। एक बड़ा सवाल उठ खड़ा हुआ है कि क्या 2021 में बंगाल में बीजेपी अपनी सरकार बना सकती है?

READ:  DySP arrest case: NIA Conducts Searches in Baramulla, Srinagar

वर्ष 2016 में हुए विधानसभा चुनाव में टीएमसी को 211, लेफ्ट को 33, कांग्रेस को 44 और बीजेपी को मात्र 3 सीटें मिली थीं।  वोट शेयर में भी बीजेपी ने पिछले लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन किया है। टीएमसी ने जहां 43.3 प्रतिशत वोट शेयर हासिल किया, वहीं बीजेपी को 40.3 प्रतिशत वोट मिले थे।

MSP का झुनझुना और डीज़ल की आड़ में बड़ा धोखा !

बहरहाल, ममता के सामने राज्य में भगवा लहर को थामने की है तो बीजेपी इस विधानसभा चुनाव में लोकसभा में सामने आए वोटों के अंतर को पाटने के पीछे जी-जान लगाकर जुट गई है। ऐसे में अगले साल विधानसभा चुनाव हो जाने तक प. बंगाल में बीजेपी बनाम टीएमसी का यह दंगल लगातार सामने आते रहने की संभावना प्रबल है।

READ:  पीपल बाबा का ये सुझाव अर्थव्यवस्था और पर्यावरण सुधार में लगा सकता है 'चार चांद'

2019 लोकसभा चुनाव पर नजर दौडाएं तो पता चलता है कि बीजेपी को 40.64 फीसदी वोट शेयर के साथ 18 लोकसभा सीटे मिली जो 2014 के मुकाबले 16 सीटों का इजाफा हुआ था। जबकि टीएमसी को 43.69 फीसदी वोट शेयर के साथ 22 लोकसभा सीटे जीतने में कामयाब रही थी। जो 2014 के मुकाबले 12 सीटों का नुकसान था।

सुधीर चौधरी को क्यों जाना पड़ा था तिहाड़ जेल?

पिछले साल 2019 में बंगाल में अमित शाह ने अपने एक भाषण में कार्यकर्ताओं से कहा था कि, “जोश से नहीं होश से काम करो। वर्ष 2018 में जब मैंने लोकसभा की 22 सीटें जीतने का दावा किया तो विपक्ष ने खिल्ली उड़ाई थी। लेकिन हमने 18 सीटें जीत लीं और 4-5 सीटें बहुत कम अंतर से हमारे हाथों से निकल गईं।”

READ:  Modi's name will benefit every party standing with BJP: Devendra Fadnavis

पश्चिम बंगाल को फतह करने के लिए भाजपा ने खास रणनीति तैयार की है। पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सात केंद्रीय नेताओं को ममता बनर्जी के गढ़ में सेंध लगाने की जिम्मेदारी सौंपी है। भाजपा की इस ‘स्पेशल-7’ टीम में संजीव बालियान, गजेंद्र शेखावत, अर्जुन मुंडा, मनसुख मंडाविया, केशव मौर्य, प्रधान सिंह पटेल और नरोत्तम मिश्रा शामिल हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।