अस्थमा से बचने के घरेलू उपाय

अस्थमा से बचने के घरेलू उपाय

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अस्थमा को काबू में रखने के अनेक उपाय हैं, जिनमें से कुछ को तो आप घर में ही आजमा सकते हैं। ऐसे उपायों से आमतौर पर कोई नुकसान नहीं होता, फिर भी सावधानी बरतनी जरूरी है। आइए जानें कि क्या-क्या हैं ये घरेलू उपाय

अस्थमा में जरूरी नहीं कि आप सिर्फ दवाओं के भरोसे ही रहें, इस स्थिति में आप अपने आप घरेलू तरीकों से भी खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। आपकी ओर से ली जाने वाली दवा की मात्रा को कम कर सकते हैं। आइए इस लेख के जरिए जानते हैं कि आप किन तरीकों को अपनाकर अपने आपको स्वस्थ रख सकते हैं।

लहसुन

लहसुन दमा के इलाज में काफी कारगर साबित होता है। 30 मिली दूध में लहसुन की पांच कलियां उबालें और इस मिश्रण का हर रोज सेवन करने से दमे में शुरुआती अवस्था में काफी फायदा मिलता है।

READ:  क्या है PMS, Premenstrual Syndrome? देखें Periods से पहले की दिक्कतें और उपाय!

अदरक

अदरक की गरम चाय में लहसुन की दो पिसी कलियां मिलाकर पीने से भी अस्थमा नियंत्रित रहता है। सबेरे और शाम इस चाय का सेवन करने से मरीज को फायदा होता है।

अजवाइन

दमा रोगी पानी में अजवाइन मिलाकर इसे उबालें और पानी से उठती भाप लें, यह घरेलू उपाय काफी फायदेमंद होता है। 4-5 लौंग लें और 125 मिली पानी में 5 मिनट तक उबालें। इस मिश्रण को छानकर इसमें एक चम्मच शुद्ध शहद मिलाएँ और गरम-गरम पी लें। हर रोज दो से तीन बार यह काढ़ा बनाकर पीने से मरीज को निश्चित रूप से लाभ होता है।

डाइट में बदलाव

ज्यादा वजन होने से अक्सर गंभीर अस्थमा हो सकता है। अपनी डाइट को एक स्वस्थ और संतुलित बनाए रखना बहुत जरूरी है, जिसमें बहुत से फल और सब्जियां शामिल हों। फल और सब्जियों में मौजूद बीटा-कैरोटीन और विटामिन सी और ई जैसे एंटीऑक्सिडेंट आपके लिए काफी अच्छे हो सकते हैं और ये आपके वायुमार्ग के आसपास की सूजन को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

READ:  दिल के मरीज़ क्या करें क्या न करें ?

योग

अस्थमा एक ऐसा रोग है जिसे आप योग या एक्सरसाइज के जरिए खत्म कर सकते हैं। योग के जरिए आप सांस लेने के व्यायाम कर अस्थमा को खत्म कर सकते हैं। कई लोगों के लिए, योग का अभ्यास तनाव को कम कर सकता है, जो आपके अस्थमा को ट्रिगर कर सकता है। योग में इस्तेमाल की जाने वाली श्वास तकनीक भी अस्थमा के हमलों की आवृत्ति को कम करने में मदद कर सकती है।

सहजन की पत्तियां

180 मिमी पानी में मुट्ठीभर सहजन की पत्तियां मिलाकर करीब 5 मिनट तक उबालें। मिश्रण को ठंडा होने दें, उसमें चुटकीभर नमक, कालीमिर्च और नीबू रस भी मिलाया जा सकता है। इस सूप का नियमित रूप से इस्तेमाल दमा उपचार में कारगर माना गया है।

READ:  पीरियड्स से जुड़ी 5 ग़लतफहमियां

क्या दिल्ली दोबारा लॉकडाउन की ओर बढ़ रही है?

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.