हिलाल अहमद राथर रफाल उड़ाने वाले पहले भारतीय

अनंतनाग के हिलाल अहमद राथर रफाल उड़ाने वाले पहले भारतीय बने

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भारतीय वायुसेना अधिकारी हिलाल अहमद साउथ कश्मीर के अनंतनाग जिले में एक मध्यम वर्गीय परिवार से आते हैं। उनके पिता दिवंगत मोहम्मद अब्दुल्लाह राथर जम्मू-कश्मीर के पुलिस विभाग से पुलिस उपाधीक्षक के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। उनकी तीन बहनें हैं और वह इकलौते भाई हैं। आज भारत के वायूसेना बेड़े में फ्रांस निर्मित 5 रफाल विमान शामिल होने वाले हैं। कश्मीर के हिलाल अहमद राथर रातों रात चर्चा का विषय बन गए हैं क्योंकि वो रफाल उड़ाने वाले पहले भारतीय पायलट बन गए हैं। कश्मीर के हिलाल अहमद ही वह शख्स हैं, जिन्होंने रफाल लड़ाकू विमानों की पहली खेप को विदाई दी। इतना ही नहीं, वह भारतीय जरूरतों के अनुसार, रफाल विमान के शस्त्रीकरण से भी जुड़े रहे हैं।

ALSO READ:  Anatomy of Sensationalisation in Media: Rafale Jet Aircraft

ALSO READ: रफाल का भारत आगमन, जानिए इस विमान की खूबियां

हिलाल अभी फ्रांस में भारत के एयर अटैच हैं। यहां खास बात यह है कि भारतीय वायुसेना के इस अधिकारी के करियर डेटेल्स के मुताबिक, हिलाल अहमद दुनिया में यह सर्वश्रेष्ठ फ्लाइंग अधिकारी हैं। 

रफाल विमान की खासियतें-

  • रफाल की अधिकतम स्पीड 2,130 किमी/घंटा है और इसकी मारक क्षमता 3700 किमी. तक है। 
  • रफाल में बहुत ऊंचाई वाले एयरबेस से भी उड़ान भरने की क्षमता है। लेह जैसी जगहों और काफी ठंडे मौसम में भी लड़ाकू विमान तेजी से काम कर सकता है।
  • रफाल 24,500 किलो उठाकर ले जाने में सक्षम है और 60 घंटे अतिरिक्त उड़ान की गारंटी भी है। 
  • रफाल विमान दो इंजनों वाला बहुउद्देश्यीय लड़ाकू विमान है।
  • यह लड़ाकू विमान परमाणु आयुध का इस्तेमाल करने में सक्षम है।
  • यह हवा से  हवा में और हवा से जमीन पर हमले कर सकता है।
  • 150 किमी की बियोंड विज़ुअल रेंज मिसाइल
  • रफाल हवा से जमीन पर मार वाली स्कैल्प मिसाइल है 
ALSO READ:  रफाल का भारत आगमन, जानिए इस विमान की खूबियां

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।