hike-fellowship-research-scholars-iit-new-delhi-emoji-mask-pm-modi-mhrd

Hike Fellowship : 80% वृद्धि के लिए रिसर्च स्कॉलर्स का नए अंदाज में विरोध प्रदर्शन

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली, 24 जनवरी। पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहे देश भर के रिसर्च स्कॉलर्स की राषट्रव्यापी हड़ताल का आज 9वां दिन है। इसी कड़ी में देश के सबसे प्रीमियर तकनीकि संस्थानों में से एक IIT दिल्ली के रिसर्च स्कॉलर्स ने बिल्कुल नए अंदाज में मोदी सरकार के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की।

इस मामले में IIT दिल्ली के रिसर्च स्कॉलर विक्की नंदल ने ग्राउंड रिपोर्ट को बताया कि, यहां करीब 200 रिसर्च स्कॉलर्स ने सेड इमोजी वाले मुखौटों के साथ प्रदर्शन किया। यह बिल्कुल नए और आकर्षक अंदाज में किया गया प्रदर्शन है। इसमें छात्रों ने फेलोशिप में जल्द से जल्द 80 फीसदी बढ़ोत्तरी की मांग की।

वहीं अन्य संस्थानों में कैंडल मार्च और पैदल मार्च निकाले गए। इसके साथ ही फेलोशिप में वृद्धि की मांग तेज होती दिख रही है। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मोदी सरकार जल्द ही फेलोशिप में वृद्धि की घोषणा कर सकती है, लेकिन कितनी बढ़ोत्तरी करेगी यह तय नहीं है। वहीं स्कॉलर्स ने साफ कहा है कि वे 80 फीसदी की मांग पर अड़े रहेंगे।

READ:  Sonia PhD student suicide case: Research scholars seek justice

रिसर्च फेलो की प्रमुख मांग-
1) जेआरएफ, एसआरएफ, पीएचडी कर रहे लोगों की फेलोशिप की रकम 20 फीसदी प्रतिवर्ष के हिसाब से 80 फीसदी बढ़ाई जाए। क्योंकि यह हर चार वर्ष में एक बार बढ़ती है।

2) फेलोशिप के तहत मिलने वाली यह रकम हर महीने समय पर आए, क्योंकि अब तक यह रकम कभी तीन महीने, छह महीने या कभी 8 महीने गुजर जाने के बाद मिलती है।

3) सरकार वेतन आयोग के तहत ऐसी गाइडलाइन बनाए जिससे यह तय हो कि फेलोशिप के तहत करने वाले रिसर्चर्स को हर महीने समय पर फेलोशिप की रकम मिले।

%d bloggers like this: