Hike fellowship : दूसरे दिन भी हड़ताल पर रहे रिसर्च स्कॉलर्स, IIT मद्रास, CBMR लखनऊ, NIPGR में विरोध प्रदर्शन

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली, 17 जनवरी। फेलोशिप में वृद्धि की मांग कर रहे रिसर्च स्कॉलर्स 16 जनवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। देश के प्रीमयर संस्थानों में से एक IIT के छात्रों ने अपने-अपने कैंपस में विरोध प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ गुस्सा जाहिर किया। वहीं IIT मद्रास, IIT मंडी, CBMR लखनऊ के अलावा दिल्ली स्थित NIPGR में भी शोधार्थियों ने हड़ताल के दूसरे दिन प्रदर्शन किया।

फेलोशिप की मांग कर रहे रिसर्च स्कॉलरों के राष्ट्रीय प्रतिनिधि और CBMR से शोधार्थी निखिल गुप्ता ने बताया कि देश भर के संस्थानों में शोधकार्य में जुटे रिसर्च स्कालर्स अब अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। ये हड़ताल फेलोशिप बढ़ने सहित हमारी अन्य मांगो के पूरा होने तक जारी रहेगी।

रिसर्च फेलो की प्रमुख मांग-
1) जेआरएफ, एसआरएफ, पीएचडी कर रहे लोगों की फेलोशिप की रकम 20 फीसदी प्रतिवर्ष के हिसाब से 80 फीसदी बढ़ाई जाए। क्योंकि यह हर चार वर्ष में एक बार बढ़ती है।

2) फेलोशिप के तहत मिलने वाली यह रकम हर महीने समय पर आए, क्योंकि अब तक यह रकम कभी तीन महीने, छह महीने या कभी 8 महीने गुजर जाने के बाद मिलती है।

3) सरकार वेतन आयोग के तहत ऐसी गाइडलाइन बनाए जिससे यह तय हो कि फेलोशिप के तहत करने वाले रिसर्चर्स को हर महीने समय पर फेलोशिप की रकम मिले।

बता दें कि 16 जनवरी को नई दिल्ली स्थित MHRD पर आंदोलन कर रहे इन शोधार्थियों को पुलिस ने बलपूर्वक खदेड़ते हुए जेल में डाल दिया। करीब 3 घंटे तक देश के ‘बेस्ट माइंड’ जेल में ही रहे। जिसके बाद शोधार्थियों ने इसे काला दिवस बताया।