hike fellowship research scholars all India representatives meeting iit jnu aiims drdo iiser du mhrd Prakash Javadekar

Hike Fellowship : रिसर्च स्कॉलर्स ने मनाया ब्लेक डे, 16 से MHRD का घेराव-भूख हड़ताल की तैयारी

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली, 4 दिसंबर। फेलोशिप में वृद्धि की मांग कर रहे IIT, JNU, IISER, AIIMS, DU, DRDO जैसे कई अहम संस्थानों के रिसर्च स्कॉलरों ने 3 जनवरी को ऑल इंडिया रिप्रजेंटेटिव मीटिंग का आयोजन कर आगे की रणनीति पर विचार विमर्श किया। इस दौरान कई संस्थानों में छात्रों ने हांथो पर काली पट्टी बांध मोदी सरकार के खिलाफ विरोध दर्ज कर इसे काला दिवस बताया।

शोधार्थियों द्वारा अपने-अपने संस्थानों में मीटिंग का आयोजन भी किया गया। जिसमें रिसर्च स्कॉलर्स ने कई अहम मुद्दों पर चर्चा की। बैठक के दौरान सभी ने आम सहमति दर्ज करते हुए एक स्वर में कहा है कि 16 से मानव संसाधन विकास मंत्रालय और DST इंडिया का दफ्तर घेरने और वहां पर विरोध प्रदर्शन की तैयारी शुरू कर दी गई है।

ALSO READ:  फेलोशिप न मिलने से आर्थिक तंगी से जूझ रहे देश भर के रिसर्च स्कॉलर, कब सुध लेगी सरकार?

देश भर के हजारों रिसर्च फेलो अब दिल्ली कूच करने की तैयारी में है। रिसर्च स्कॉलर ने नारा ‘अनुसंधान को सहयोग दो, दिल्ली चलो दिल्ली चलो’ देते हुए ज्यादा से ज्यादा छात्रों को दिल्ली पहुंचने की अपील की है। छात्र अब अनिश्चितकाली हड़ताल और फेलोशिप बढ़ने तक भूख हड़ताल की बात कर रहे हैं।

बता दें कि बीते कई महीनों से फेलोशिप में वृद्धि की मांग कर रहे रिसर्च स्कॉलरों को सरकार हर बार तारीख और आश्वासन मिल रहा था। बीते दिनों केन्द्रीय संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और शोधार्थियों के बीच हई मीटिंग के दौरान 31 दिसंबर 2018 तक फेलोशिप बढ़ाने की बात कही गई थी, लेकिन अब तक ऐसी कोई खबर सामने नहीं आई है।

ALSO READ:  GATE 2021 notification out, two new subjects introduced with relaxation in eligibility criterion

IIT दिल्ली, IIT मद्रास, खड़गपुर, IIT रुढ़की, IIT मुंबई, IIT मंडी, IIT कानपुर के अलावा अन्य कैंपस, IISER कोलकाता, ACTREC, IISER पुणे, BHU, AIIMS नई दिल्ली, IIEST शिबपुर सहित देश भर के रिसर्स स्कॉलर्स ने अपने-अपने संस्थानों में ऑल इंडिया रिप्रजेंटेटिव मीटिंग का आयोजन किया था। इस पहले इन संस्थानों के छात्र पैदल मार्च भी निकाल चुके हैं।

रिसर्च फेलो की प्रमुख मांग-
1) जेआरएफ, एसआरएफ, पीएचडी कर रहे लोगों की फेलोशिप की रकम 20 फीसदी प्रतिवर्ष के हिसाब से 80 फीसदी बढ़ाई जाए। क्योंकि यह हर चार वर्ष में एक बार बढ़ती है।

2) फेलोशिप के तहत मिलने वाली यह रकम हर महीने समय पर आए, क्योंकि अब तक यह रकम कभी तीन महीने, छह महीने या कभी 8 महीने गुजर जाने के बाद मिलती है।

ALSO READ:  आर्थिक तंगी से जूझ रहे देश भर के रिसर्च स्कॉलर, बीते कई महीनों से नहीं मिली फेलोशिप

3) सरकार वेतन आयोग के तहत ऐसी गाइडलाइन बनाए जिससे यह तय हो कि फेलोशिप के तहत करने वाले रिसर्चर्स को हर महीने समय पर फेलोशिप की रकम मिले।