Hike Fellowship : रिसर्च स्कॉलर्स की हड़ताल का चौथा दिन, IIT दिल्ली की पोस्ट कार्ड मुहिम तो IISER पुणे में विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली, 19 जनवरी। फेलोशिप में 80 प्रतिशत की वृद्धि की मांग पर अड़े देश भर के रिसर्च स्कॉलर्स की राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आज चौथा दिन है। चौथे दिन विरोध प्रदर्शन करते हुए IIT दिल्ली के रिसर्च स्कॉलर्स ने पोस्ट कार्ड मुहिम शुरू की है। आंदोलन कमेटी के नेशनल रिप्रजेटेटिव एवं कोर्डिनेटर IIT दिल्ली से पीएचडी रहे विक्की नंदल ने बताया कि हड़ताल के चौथे दिन करीब हम लोगों ने पोस्ट कार्ड मुहिम शुरू की है।

उन्होंने कहा कि, इस मुहिम के जरिए हम लोग करीब 2000+ पोस्ट कार्ड के माध्यम से अपनी बात महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, DST इंडिया और मानव विकास मंत्रालय तक अपनी बात पहुंचाएंगे। यह मुहिम हड़ताल के 5वें दिन यानी 20 जनवरी को भी जारी रहेगी।

वहीं दूसरी ओर इस राष्ट्रव्यापी हड़ताल को आगे बढ़ाते हुए पुणे स्थित IISER के रिसर्च स्कॉलर्स ने विरोध प्रदर्शन किया। सरकार के खिलाफ गुस्सा जाहिर करते हुए हाथों में बैनर और पोस्टर लिये IISER के रिसर्च स्कॉलर्स फेलोशिप में 80 फीसदी की वृद्धि की मांग कर रहे हैं।

बता दें कि देश भर के रिसर्च स्कॉलर्स की फेलोशिप में पिछले चार वर्षों से वृद्धि नहीं की गई है। जबकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘जय अनुसंधान’ का नारा बुलंद कर भारत को विश्वगुरू बनाने की बात कह रहे हैं। देश भर के रिसर्च स्कॉलर्स अब इस आंदोलन के जरिए सरकार से फेलोशिप बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

इससे पहले रिसर्च स्कॉलर्स की राष्ट्रीय प्रतिनिधियों की टीम केन्द्रीय मानव संसाधन और विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और अन्य अधिकारियों को इस मामले में ज्ञापन दे चुके हैं लेकिन तय समय सीमा से भी कई दिन बीत जाने के बाद जब फेलोशिप नहीं बढ़ी तो रिसर्च स्कॉलर्स ने 16 जनवरी को राष्ट्रव्यापी आंदोलन छेड़ दिया।

अब रिसर्च स्कॉलर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है। आज यानी 19 जनवरी को इस आंदोलन का चौथा दिन है। जहां देश भर के संस्थानों और विश्वविद्यालयों के कैंपस में हर दिन रिसर्च स्कॉलर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी कड़ी में IISER पुणें कैंपस में रिसर्च स्कॉलर्स ने विरोध प्रदर्शन किया।