Home » अब अस्पताल में भर्ती होने के लिए कोरोना रिपोर्ट जरूरी नहीं

अब अस्पताल में भर्ती होने के लिए कोरोना रिपोर्ट जरूरी नहीं

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा की अब किसी भी अस्पताल में भर्ती होने के लिए कोरोना संक्रमित रिपोर्ट होना जरूरी नहीं होगा। उन्होंने देश के कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इसके आदेश दिए हैं। आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट में देरी होने की वजह से स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये फैसला लिया है। वहीं उन्होंने तीन विशेष बातों पर ध्यान देने को कहा है।

अस्पतालों से मरीज नही लौटाए जाएंगे वापस

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा किसी भी वजह से मरीज को अस्पताल से वापस नही लौटाया जाएगा। फिर चाहे ऑक्सीजन की कमी, दवाई, या किसी अन्य शहर से होने पर उनसे किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं मांगी जाएगी।

घर पर ही संभव है कोरोना का इलाज, पर बरतें जरूरी सावधानियां

READ:  Corona In Delhi : दिल्ली में कोरोना से राहत, पहले से काफी कम हुई संक्रमितों की संख्या

आम बिमारी वाले मरीजों से न भरे बेड

मंत्रालय ने कहा की मरीज की जरूरत के हिसाब से प्रदान करे।यदि किसी भी मरीज की हालत नाजुक है ,तो उसे फल भर्ती करे। ऐसे मरीजों को बेड न दें जिन्हे भर्ती करने की जरूरत नही है।यही भी बल्कि तय समय पर मरीज को अस्पताल से डिस्चार्ज करे।

यूपी में मरीजों की भर्ती होने के लिए आरटीपीसीआर है आवश्यक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा की अस्पतालों में मरीजों को उनके अंदर पाए जाने वाले लक्षणों के आधार पर उन्हें अस्पतालों में भर्ती किया जाए। लखनऊ में कुछ ऐसे अस्पताल हैं जो मरीजों को उनके आरटीपीसीआर रिपोर्ट तक उन्हें प्राथमिक इलाज मुहैया कराते हैं, जैसे केजीएमयू, पीजीआई, लोहिया संस्थान आदि, और कोरोना संक्रमित मरीजों को कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया जाता है।

READ:  सऊदी अरब के Khana-e-Kaaba में इमाम पर किसने हमला किया?

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।