Skip to content
Home » Hawala Transaction क्या है, इसके ज़रिए कैसे होता है लेनदेन?

Hawala Transaction क्या है, इसके ज़रिए कैसे होता है लेनदेन?

Hawala Transaction

Hawala Transaction : हवाला कारोबार, हवाला का पैसा, हवाला ट्रांजेक्शन जैसे शब्दों को आपने ज़रूर सुना और पढ़ा होगा। आज आपको हवाला से संबंधित जुड़ी कुछ महात्वपूर्ण जानकारियों के बारे में बताते हैं।आइये पहले समझते हैं क्या होता है (Hawala Transaction) और यह भारत में ग़ैर क़ानूनी क्यों है ?

  • हवाला का पैसा एक ओर से दूसरी ओर ट्रांसफर करने का एक अनौपचारिक तरीका है। इस ट्रांजेक्शन (Hawala Transaction) को पैसा अंडरग्राउंड ट्रांजेक्शन भी कहा जाता है। इसमें पैसा भौतिक रूप से ट्रांसफर नहीं होता है।
  • हवाला ट्रांजेक्शन (Hawala Transaction)  मौजूदा समय एक अल्टरनेटिव रेमिटेंस चैनल के रूप में प्रयोग किया जाता, जो परंपरागत बैंकिंग सिस्टम्स से बाहर है। पैसे को दुनिया की एक जगह से दूसरे पर ग़ैरक़ानूनी रूप से भेजने को हवाला कहा जाता है
  • वर्तमान समय में हवाला का (Hawala Transaction) इस्तेमाल बड़े पैमाने पर देश के बाहर रहने वाले पैसा घर भेजने के लिए करते हैं। यह नेटवर्क बेहद पुराने समय से चला आ रहा है।

Hawala Transaction के ज़रिए कैसे होता है लेनदेन?

  • हवाला ट्रांजेक्शन (Hawala Transaction)  में सबसे अहम भूमिका एजेंट या बिचौलिए की होती है।इसको आसान भाषा में यूं समझें कि दुबई से कोई व्यक्ति बिना कोई बैंक खाता खोले ही भारत में पैसे भेज सकता है। आप कहेंगे ये कैसे ?
  • ऐसा करने के लिय  स्थानीय बिचौलिए से संपर्क करके पैसा और पासवर्ड देना होता है। जिस पर पैसे भेजने वाला और उसे प्राप्त करने वाला दोनों सहमत होते हैं। यानी यह पासवर्ड अब उन दोनों के अलावा बिचौलिए को भी पता होती है।
  • अब भारत का स्थानीय बिचौलिया दुबई के बिचौलिए से सम्पर्क करता है और उसे वो राशि और पासवर्ड बताता है। वो यह सुनिश्चित करता है कि पैसा सही व्यक्ति तक पहुंचे, वो उससे पासवर्ड पूछता है। यह पूरा प्रोसेस कुछ घंटों में पूरा हो जाता है और बिचौलिए थोड़ा सा कमीशन मिल जाता है।

भारत में हवाला ट्रांजेक्शन (Hawala Transaction) पूरी तरह से ग़ैर कानूनी है। क्यों इस ट्रांजेक्शन में गोपनीयता रहती है। इनका कोई भी आधिकारिक रिकॉर्ड नहीं रहता। हवाला दुनिया की अनबैंक्ड और अंडरबैंक्ड आबादी के बीच पैसों के ट्रान्सफर करता है। इस ट्रांजेक्शन में भेजने वाले और रिसीव करने करने वाले का कोई पता नहीं चलता।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitterKoo AppInstagram, and Whatsapp and Subscribe to our YouTube channel. For suggestions and writeups mail us at GReport2018@gmail.com

Watch tennis matches effectively: here is how

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: