हाथरस पीड़ित परिवार से मिलेंगे राहुल प्रियंका

छावनी में तब्दील हुआ हाथरस, प्रियंका-राहुल मिलेंगे पीड़ित परिवार से

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तरप्रदेश के हाथरस में दलित लड़की के साथ हुए गैंगरेप फिर मौत की घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। मौत के बाद यूपी पुलिस द्वारा किए गए जबरन अंतिम संस्कार की वजह से पूरे देश में गुस्से का माहौल है। इस मामले में सियासत भी गरमाती जा रही है। कांग्रेस दिग्गज राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे हैं। सरकार द्वारा हाथरस गांव को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। हाथरस जाने वाली सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं। दिल्ली-नोएडा-दिल्ली (डीएनडी) फ्लाईओवर पर भारी पुलिस बल तैनात हो गई है।

हाथरस गैंगरेप मामले में कब क्या हुआ, पढ़ें पूरी टाइमलाइन

5 बड़ी बातें-

01

हाथरस के डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार ने बताया कि जिले की सारी सीमाएं सील कर दी गई हैं। साथ ही पूरे जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है, जिसके तहत पांच से अधिक लोगों को एक जगह इकट्ठा होने की अनुमति नहीं है। उन्होंने बताया कि हमें प्रियंका गांधी की आने की कोई जानकारी नहीं है।एसआईटी आज पीड़ित परिवार के सदस्यों से मुलाकात करेगी, मीडिया को अनुमति नहीं दी जाएगी।

ALSO READ:  Fee Rollback a ‘Cosmetic’ says JNU Students
02

 गैंगरेप और बर्बरता का शिकार हुई 20 साल की पीड़िता की मंगलवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। इसके बाद यूपी पुलिस ने मंगलवार देर रात के अंधेरे में परिवार की मौजूदगी के बिना पीड़िता का अंतिम संस्कार किए जाने पर पूरे देश में आक्रोश फैला हुआ है। इस घटना के बाद से राहुल और प्रियंका लगातार यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जवाबी हमले कर रहे हैं।

03

 हाथरस की बेटी से गैंगरेप और मौत मामले पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने एक्शन लिया है। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश सरकार, सूबे के पुलिस मुखिया को इस मामले में नोटिस जारी किया है।

ALSO READ:  BJP का 'हिन्दू-मुस्लिम' एजेंडा फेल, AAP के इस मुस्लिम उम्मीदवार को शाहीन बाग से मिले झोली भर के वोट
04

प्रियंका गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि यूपी के मुख्यमंत्री जी से कुछ सवाल पूछना चाहती हूं.परिजनों से जबरदस्ती छीन कर पीड़िता के शव को जलवा देने का आदेश किसने दिया था? पिछले 14 दिन से कहां सोए हुए थे आप? क्यों हरकत में नहीं आए? और कब तक चलेगा ये सब? कैसे मुख्यमंत्री हैं आप?’

05

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है। सात दिन के अंदर जांच कर एसआईटी को रिपोर्ट सौंपनी होगी। प्रधानमंत्री मोदी ने भी घटना का संज्ञान लिया है। पूरे देश में हाथरस घटना के खिलाफ रोष का महौल है। साथ ही सियासत चरम पर है। इस घटना ने यूपी में सुशासन के दावे की हकीकत सामने लाकर रख दी है।

ALSO READ:  Budget 2020 : देश में मुख्य समस्या बेरोज़गारी, बजट में इसपर कोई ठोस प्रावधान नहीं

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।