हाथरस गैंगरेप मामला कब क्या हुआ

हाथरस गैंगरेप: आधीरात परिवार के बिना यूपी पुलिस ने जला दिया पीड़िता का शव

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यूपी के हाथरस में 19 वर्षीय दलित महिला का 4 ठाकुर दबंगों ने गैंगरेप किया। रेप के बाद पीड़िता को इस हद तक पीटा गया कि उसकी जान नहीं बचाई जा सकी। मौत के बाद बुधवार रात 3 बजे पीड़िता के घरवालों के बिना ही यूपी पुलिस ने रेप पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया। मीडिया वाले पुलिस से पूछते रहे कि वह क्या जल रहा है… इस सवाल का जवाब मीडिया को नहीं दिया गया। परिवार ने आरोप लगाया कि उन्हें अपनी बेटी की आखिरी बार शक्ल तक नहीं देखने दी गई। पुलिसवालों ने उनकी बेटी का जबरन अंतिम संसकार कर दिया।


रेप पीड़िता के भाई ने इंडियन एक्सप्रेस को रात 3:30 यह बताया कि ऐसा लगता है कि पुलिस उनकी बहन का अंतिम संस्कार कर रही है। हम उनसे भीख मांगते रहे कि एक बार आखिरी बार उन्हें अपनी बहन का शव घर में लाने दिया जाए लेकिन वो नहीं माने।

पीड़िता के भाई ने बताया कि पुलिस वालों ने उनसे अंतिम संस्कार के लिए कहा लेकिन वे आधी रात को दाह संस्कार नहीं करना चाहते थे, हम उसे घर ले जाना चाहते थे। पिताजी भी तब दिल्ली से वापस नहीं लौटे थे। ऐसे में जल्दी क्यों की गई।

READ:  विदेश से घर आया बेटा था कोरोना संक्रमित, माँ को फैला वायरस, दिल्ली में तोड़ा दम

ALSO READ: हाथरस गैंगरेप मामले में प्रधानमंत्री मोदी ने लिया संज्ञान, दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश

थोड़ी देर बाद गांव में चिता जलती हुई दिखाई दी जिसके आसपास कोई घरवाला मौजूद नहीं था। मीडिया द्वारा जब सवाल पूछा गया कि वहां क्या जल रहा है तो पुलिस ने डीएम से बात करने को कहा।

हाथरस के संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई को बताया कि पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। इस घटना के आरोपियों को पुलिस प्रशासन कड़ी से कड़ी सज़ा दिलाने का हरसंभव प्रयास करेगा।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।