Hathras Gangrape case: IIMC Alumni Vikas Dayal wrote letter to admin, demanding Bahujan Panchayat of 1200 villages in hapur

हाथरस गैंगरेप केस: 1200 गांवों की बहुजन पंचायत लगाने की मांग, विकास दयाल ने प्रशासन को लिखा पत्र

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Hathras Gangrape Case: उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 वर्षीय दलित युवती के साथ चार उच्च जाति के युवकों द्वारा किए गए सामुहिक बलात्कार के बाद देशभर में आक्रोश है। एक ओर जहां पीड़िता के परिवार को न्याय दिलवाने की मांग तेज है वहीं दूसरी ओर दलित समाज की यह मांग भी जोरों पर है कि इस मामले में न्याय के लिए बहुजन समाज की एक विशेष पंचायत लगाई जाए। इस मामले में उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता और दलित चिंतक विकास दयाल ने जिला अधिकारी को पत्र लिखकर यह मांग की है कि सरकार दलित समाज की 1200 गांवों की बहुजन पंचायत की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

हाथरस गैंगरेप केस: भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर रावण ने कहा- कंगना रनौत को सुरक्षा मिल सकती है तो इस दलित पीड़िता के परिवार को क्यों नहीं?

IIMC नई दिल्ली के पूर्व छात्र रहे पत्रकार विकास दयाल ने जिला अधिकारी को जो पत्र लिखा है उसमें उन्होंने कहा है, आदरणीय जिलाअधिकारी महोदया जी, उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई देश और समाज को शर्मशार कर देने वाली एक दलित समाज की बेटी के साथ घटना ने पूरे समाज को झकझोर दिया है, इसके ठीक विपरीत मीडिया के माध्यम से पता चला के गंदी मानसिकता के लोगों का साथ कुछ नासमझ लोग देने के लिए हाथरस में लगी 144 धारा के बावजूद बिना प्रशासन की अनुमती के 12 गांव की महा पंचायत कर आरोपियों के हक में आवाज उठा रहे हैं जो बेहद शर्म का विषय है।

ALSO READ:  Dr. Kafeel Khan Letter: मथुरा जेल से डॉ. कफील ने लिखा खत, जहन्नुम में हूं...

हाथरस गैंगरेप केस: कंगना रनौत को सुरक्षा मिल सकती है तो हाथरस के उस दलित परिवार को क्यों नहीं?

सामाजिक कार्यकर्ता विकास दयाल इस पत्र में आगे लिखते हैं, अगर इस प्रकार की बिना अनुमती के पंचायत आरोपियों के हक में हो सकती है तो समस्त दलित समाज अपनी बेटी को न्याय दिलाने के लिए आपसे हापुड़ के रामलीला मैदान में 1200 गांव की महा पंचायत करने की विशेष अनुमती और पंचायत की व्यवस्था कराए जाने की मांग करता है हमेशा से दलित समाज कानून का पालन करने वाला रहा है।

विकास दयाल ने प्रशासन ने से अनुरोध करते हुए कहा है कि, दलित समाज की मांग है दोषियों को उनके अंजाम तक पहुंचाने और पीड़िता बहन को न्याय दिलाने के लिए ताकि प्रदेश में इस प्रकार की जघन्य वारदात ना हो इस बाबत विधिक सहायता और न्यायिक लड़ाई के लिए दलित समाज एक जुट होकर 1200 गाँव की पंचायत करने के लिए संवैधानिक अनुमती हेतु मांग कर रहा कृपा कर अनुमती प्रदान करें।

ALSO READ:  हाथरस मामले में अब तक क्या-क्या, पढ़े पल-पल की अपडेट

हाथरस जा रही प्रियंका गांधी के साथ यूपी पुलिस की बदसलूकी, कुर्ता खींचा, कपड़े फाड़ने की कोशिश

बता दें कि 14 सितंबर को चार सवर्णों द्वारा गांव की ही रहने वाली दलित युवती के साथ सामुहिक बलात्कार किया और उसके साथ मार पीट की गई। इस घटना में पीड़िता को कई गंभीर चोटे आई थी। जांच में पाया गया कि उसके शरीर में कई जगह फ्रेक्चर थे और जुबान भी काट दी गई थी। आनन-फानन में पीड़िता को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया। इसके दो सप्ताह बाद दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज के दौरान पीड़िता की मौत हो गई।

ALSO READ:  उत्तर प्रदेश उपचुनाव : इन 7 सीटों पर 3 नवंबर को होगा मतदान

हाथरस गैंगरेप मामले में कब, कैसे, क्या हुआ, पढ़ें पूरी टाइमलाइन…

लेकिन इस पूरे घटनाक्रम के बाद सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बात रही कि पीड़िता के शव को रातों-रात पुलिस प्रशासन द्वारा जला दिया गया। परिवार को अंतिम संस्कार भी नहीं करने दिया गया। जिसके बाद लोग और मीडिया आक्रोशित हो गए और पिछले कई दिनों से मामला मीडिया की सुर्खियों में छाया हुआ है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।