Chinese Apps Banned: 43 more Chinese Apps Banned By Modi Government, see Full list here How Coronavirus Altered the Way We Look at Brand Modi

हाथरस गैंगरेप मामले में प्रधानमंत्री मोदी ने लिया संज्ञान, दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हाथरस गैंगरेप (Hathras Gangrape) मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। हाथरस गैंगरेप मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से फोन पर बातचीत में कहा है कि इस मामले में जल्द से जल्द एक्शन लें और दोषियो के खिलाफ कार्रवाई करें। सीएम योगी ने ट्विट कर कहा कि आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने हाथरस की घटना पर वार्ता की है और कहा है कि दोषियों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाए।

गुजरात में दलित लड़की का गैंगरेप, हत्या कर लाश को पेड़ से लटकाया

ALSO READ:  इस देश में ग़रीबों की मौत को कब तक मुआवज़े के कफ़न से ढंका जाता रहेगा ?

इसके बाद एक अन्य एक ट्वीट में योगी ने कहा, हाथरस में बालिका के साथ घटित दुर्भाग्यपूर्ण घटना के दोषी कतई नहीं बचेंगे। प्रकरण की जांच हेतु विशेष जांच दल का गठन किया गया है। यह दल आगामी सात दिवस में अपनी रिपोर्ट देगा। त्वरित न्याय सुनिश्चित करने हेतु इस प्रकरण का मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा।

बता दें कि दुष्कर्म पीड़िता का दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल में इलाज चल रहा था। जहां इलाज के दौरान मंगलवार को उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद वहां से उसका शव देर रात को हाथरस पहुंचा। जहां उत्तर प्रदेश पुलिस ने जबरन परिजनों पर दबाव डालकर शव का रात में ही अंतिम संस्कार करवा दिया। मामले में यूपी पुलिस पर हीला-हवाली का रवैया अपनाने का आरोप पहले से ही लग रहा था।

ALSO READ:  हाथरस गैंगरेप केस: भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर रावण ने कहा- कंगना रनौत को सुरक्षा मिल सकती है तो इस दलित पीड़िता के परिवार को क्यों नहीं?

अलवर में दलित महिला से गैंगरेप मामला : सभी 6 आरोपी गिरफ्तार, वीडियो वायरल करने वाला बोला – गलती हो गई…

अब इस घटना से पुलिस के साथ-साथ योगी सरकार की किरकिरी तो हो ही रही है, कहीं न कहीं बीजेपी पर भी दलतिविरोधी होने का आरोप लग रहा है। इससे दबाव में आए योगी सरकार ने मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी और अब खुद पीएम ने योगी से बात की है और कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।