Uttar Pradesh: Acid thrown at three Dalit girls, one in critical condition at gonda district Hathras gang rape case: 5 countries where most brutal punishment of rape Chhattisgarh, Bemetra, rape, gangrape, crime news,

हाथरस गैंगरेप केस: दुनिया के वो 5 देश जहां रेप की सबसे क्रूरतम सजा दी जाती है

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Hathras Gangrape Case: हाथरस गैंगरेप मामले में जहां दलित पीड़िता के परिवार (Hathras Dalit Family) को न्याय मिलना तो दूर उल्टा उन्हें प्रशासन द्वारा डराया धमकाया जा रहा है वहीं दुनिया के कुछ चुनिंदा देश ऐसे भी जहां रेप (Rape-Gangrape Punishment) करने वाले दोषियों को महज एक हफ्ते के भीतर ही फांसी दे दी जाती है। इतना ही नहीं कई देशों में इस अमानवीय कृत्य के लिए ऐसी क्रूरतम सजा का प्रावधान है जिसे सुनकर ही रूह कांप उठती है। जबकि कई देश ऐसे हैं जहां रेप के दोषियों को न सिर्फ कारावास बल्कि उन्हें नपुंसक बना दिया जाता है और उनमें महिलाओं के हार्मोन्स इंजेक्ट कर दिए जाते हैं।

हाथरस गैंगरेप मामले में कब, कैसे, क्या हुआ, पढ़ें पूरी टाइमलाइन…

कजाकिस्तान
तो बात करते है सबसे पहले इस्लामिक देश कजाकिस्तान की जहां प्रावधान है कि रेप के दोषी को इंजेक्शन देकर नंपुसक बना दिया जाता है। इसके साथ ही उसे 15 वर्ष का कठोर कारावास की सजा दी जाती है। कई केसों में ये भी देखा गया है कि ऐसे दोषियों में महिलाओं के हार्मोन्स भी इंजेक्ट कर दिए जाते है। साल 2018 में संशोधित किए गए कानून के बाद कजाकिस्तान में बीते 2 वर्षों में 11 ऐसे अपराधी हैं जिन्हें नपुंसक बनाया गया और 15 वर्ष की जेल की सजा सुनाई गई।

हाथरस गैंगरेप केस: कंगना रनौत को सुरक्षा मिल सकती है तो हाथरस के उस दलित परिवार को क्यों नहीं?

READ:  198 migrant workers killed in three months of Lockdown, Whom to blame?

संयुक्त अरब अमीरात
इतना ही नहीं संयुक्त अरब अमीरात जैसे देश में जुर्म के लिए सबसे क्रूर सजा दी जाती है। बलात्कार का दोषी पाए जाने पर उसे सीधे मौत के घाट के उतार दिया जाता है। इस देश के कानून के मुताबिक यदि कोई शख्स यौन उत्पीड़न, दुष्कर्म जैसे घिनौने कृत्यों में दोषी पाया जाता है तो उसे सात दिनों के भीतर ही मौत के घाट उतार दिया जाता है।

हाथरस गैंगरेप: आधीरात परिवार के बिना यूपी पुलिस ने जला दिया पीड़िता का शव

सऊदी अरब
वहीं सऊदी अरब जैसे इस्लामिक देश में शरिया एक्ट के तहत कार्रवाई की जाती है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस देश में किसी अपराध में दोषी पाए जाने वाले शख्स को सीधे जान से मार दिया जाता है। जबकि कई बार तो रेप, गैंगरेप जैसे जघन्य अपराधों में दोषियों के पहले प्राइवेट पार्ट काटे जाते हैं फिर उनका सर काटकर धड़ से अलग कर दिया जाता है। ऐसे कई केस हैं जिनमें दोषियों को फांसी पर लटकाने, उनका सिर कलम करने और यौनांगों को काटने के साथ ही उन्हें मौत की सजा सुनाई गई है।

हाथरस गैंगरेप केस: योगी सरकार ने काफिला रोका तो खुद कार चलाकर पीड़िता के घर पहुंची प्रियंका गांधी, परिवार से की मुलाकात

इराक
वहीं इराक में बलात्कार के आरोपी को मौत की सजा सुनाई जाती है लेकिन मौत किस तरीके से दी जाती है उसे सुनकर ही अपराधी कांप उठते हैं। यहां अपराधी को तब तक पत्थर से मारा जाता है जब तक उसकी मौत न हो जाए। इतना ही नहीं इस दौरान रेप के आरोपी की यातनाएं दी जाती है उसे तड़पा-तड़पा के मारा जाता है।

READ:  हाथरस गैंगरेप केस में नया मोड़, वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने अब किया ये दावा

हाथरस जा रही प्रियंका गांधी के साथ यूपी पुलिस की बदसलूकी, कुर्ता खींचा, कपड़े फाड़ने की कोशिश

पोलैंड
वहीं पोलैंड जैसे देश में बलात्कार के दोषी को सबसे क्रूर सजा दी जाती है। पोलेंड के कानून के मुताबिक, अगर कोई शख्स बलात्‍कार का दोषी पाया जाता है तो उसे खूंखार सुअरों के बेड़े में छोड़ दिया जाता है। उसे सुअरों से कटवाया जाता है। दोषी को तब तक सुअरों से कटवाया जाता है जब तक तड़प-तड़के उसकी मौत न हो जाए। हालांकि रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस कानून को संशोधित कर अपडेट किया गया है जिसमें कई बार दोषी को नपुंसक भी बना दिया जाता है।

हाथरस गैंगरेप केस: पीड़िता के पिता की छाती पर DM ने मारी लात, घर वालों का मोबाइल छीनकर बनाया बंधक

बता दें कि 14 सितंबर को चार सवर्णों द्वारा गांव की ही रहने वाली दलित युवती के साथ सामुहिक बलात्कार किया और उसके साथ मार पीट की गई। इस घटना में पीड़िता को कई गंभीर चोटे आई थी। जांच में पाया गया कि उसके शरीर में कई जगह फ्रेक्चर थे और जुबान भी काट दी गई थी। आनन-फानन में पीड़िता को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया। इसके दो सप्ताह बाद दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज के दौरान पीड़िता की मौत हो गई।

READ:  गूगल मैप्स को ये भारतीय कलाकार देगा अपनी आवाज़ ?

बीजेपी विधायक ने हाथरस गैंगरेप जैसी घटनाओं के पीछे लड़कियों के संस्कार और चाल-चलन को बताया जिम्मेदार

लेकिन इस पूरे घटनाक्रम के बाद सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बात रही कि पीड़िता के शव को रातों-रात पुलिस प्रशासन द्वारा जला दिया गया। परिवार को अंतिम संस्कार भी नहीं करने दिया गया। जिसके बाद लोग और मीडिया आक्रोशित हो गए और पिछले कई दिनों से मामला मीडिया की सुर्खियों में छाया हुआ है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: