आदिवासी, दलित, पिछड़े और मुस्लिमों के सही कामों को छुपाता है मीडिया: हंसराज मीणा

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ट्विटर पर #जातिवादी_सांप्रदायिक_मीडिया हो रहा है ट्रेंड

न्यूज़ डेस्क, ग्राउंड रिपोर्ट
कोरोना की महामारी के बीच पीएम मोदी ने “पीएम केयर फंड”(PM CARE FUND) की घोषणा की. जिसके बाद कई बड़ी हस्तियों ने कोरोना वायरस(Corona Virus) से निपटने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर और लॉक डाउन(Lockdown) से परेशान गरीबों के लिए दान देना शुरू किया.

कल हंसराज मीणा ने ट्विटर पर भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (BCCI) पर इस फंड में दान देने का दबाव बनाया. उनकी और उनके समर्थकों की मेहनत रंग लायी जब BCCI ने 51 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया. मगर कुछ मीडिया चैनल और संस्थानों ने इस दान के पीछे की सच्चाई छिपाई.

READ:  कुपोषण मिटाने के लिए महिलाओं ने पथरीली ज़मीन को बनाया उपजाऊ

कल हंसराज मीणा और ट्विटर पर उनके फोल्लोवेर्स ने 3 घण्टे में बीसीसीआई को दान देने के लिए मजबूर किया था. मीणा का कहना है कि ‘मीडिया कुछ और ही छाप रहा हैं. ये सब क्या हैं?”

मीणा ने ये भी कहा कि आदिवासी, दलित, पिछड़े वर्ग या मुस्लिम समुदाय के द्वारा किये गए सही कामों को मीडिया नहीं दिखता. इसलिए वह ट्विटर पर #जातिवादीसांप्रदायिकमीडिया ट्रेंड करा रहे हैं.

READ:  प्रशासन की तानाशाही और छात्रों का डीपी विरोध, कब खुलेगा IIMC?

मीणा का कहना है कि मीडिया ने SC/ST रेलवे एम्पोलईस एसोसिएशन के 70 करोड़ के दान वाली बात कहीं नहीं छापी.

आपने ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया पर लोगो को लिखते देखा होगा.मगर मीणा हमेशा से ही देश के मुद्दों को उठाते आये हैं.

READ:  क्या कोरोना की दूसरी लहर की वजह आपको पता है?