gupkar alliance leading in jammu kashmir ddc polls

कश्मीर में चुनाव के नतीजे आ रहे हैं, रुझानों में भाजपा पीछे, कश्मीरी पार्टियां आगे

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

धारा 370 हटने के बाद कश्मीर में राजनीतिक गतिविधियों को शुरु करने के लिए डीडीसी इलेक्शन कराए गए। डीडीसी का मतलब है डिस्ट्रिक डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन हिन्दी में जिला विकास परिषद। 280 सीटों पर यह चुनाव कराए गए थे। आज चुनाव नतीजे आ रहे हैं। यह चुनाव आठ चरणों में संपन्न हुए, अच्छी बात यह रही की इन चुनावों में कश्मीरी पार्टियां अपना गठबंधन बनाकर उतरी जिसका नाम गुपकार आलायंस रखा गया। इस गठबंधन में महबूबा मुफ्ती की पीडीपी, उमर अबदुल्ला की नेशनल कांन्फ्रेंस और अन्य कश्मीरी पार्टियों एक साथ हैं। लोगों ने इस चुनाव में उम्मीद से बेहतर संख्या में हिस्सा लिया। अभी तक के रुझानों में भाजपा पीछे और गुपकार गठबंधन आगे चल रहा है। लेकिन भाजपा की ओर से कड़ी टक्कर मिल रही है।

READ:  DDC election results will be accessed online dynamically: SEC Sharma

दोपहर 12.30 बजे तक करीब 174 सीटों के रुझान आ चुके हैं, जिसमें गुपकार गठबंधन 64 सीटों पर आगे चल रहा है, जबकि भाजपा उससे पिछड़ चुकी है और वह 48 सीटों पर आगे है। कांग्रेस 18 सीटों पर है और अन्य 43 सीटों पर आगे चल रहे हैं।

ALSO READ: DDC Election Results: First Win For BJP From Srinagar

इस चुनाव का महत्तव

जम्मू कश्मीर को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए इन चुनावों का कराया जाना बेहद महत्तवपूर्ण था। धारा 370 हटने के बाद राज्य को केंद्र शासित प्रदेश में तब्दील कर दिया गया है। राज्य का पूरा प्रशासन तंत्र बदल चुका है। पहले कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्राप्त था जहां उसकी अपनी विधानसभा होती थी और मुख्यमंत्री होता था। 370 हटने के बाद जम्मू कश्मीर को दिल्ली की तरह केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है जहां विधानसभा तो होगी लेकिन आधी शक्तियां केंद्र के पास होंगी।

READ:  Counting of DDC Elections; First Win in National Conference Account

राज्य में फिल्हाल विधानसभा चुनाव होने की संभावना नहीं थी ऐसे में निकाय चुनाव करवाए गए हैं। ताकि लोगों को मूल भूत सुविधाओं के लिए प्रतिनिधी मिल सके। इन चुनावों के सफलतम आयोजन के बाद राज्य में नई सरकार के गठन के लिए चुनावों पर बातचीत भी आगे बढ़ सकती है। लेकिन यह कश्मीर की पार्टियों की सहभागिता के बिना संभव नहीं होगा। और अभी तक गुपकार अलायंस वाली पार्टियां दोबारा 370 बहाल करने की मांग पर अड़े हैं। ऐसे में राज्य में विधानसभा चुनाव कब होंगे इस पर संशय है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।