सरकार का covid19 पर अहम फैसला, Black Fungus में उपयोगी दवाओं पर GST में छूट

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

माल व सेवाकर की शुक्रवार की बैठक में कोविड-19 के लिए उपयोगी दवाओं व चिकित्सा उपकरणों पर चर्चा हुई, साथ ही साथ ब्लैक फंगस के लिए प्रयोग में आने वाली दवाओं के आयात शुल्क(import duty) पर भी चर्चा की गई। इस बैठक(meeting) में कोविड-19 की दवाओं व चिकित्सा को लेकर यह फैसला किया गया कि इनकी आयात दरों में कोई छूट या बदलाव नहीं किया जाएगा। वहीं दूसरी ओर वित्त मंत्री ने ब्लैक फंगस के लिए उपयोग की जाने वाली दवा के आयात शुल्क पर बड़ा फैसला लेते हुए इसके कर पर छूट देने की बात कही है।

किस-किस चीज पर रहेगी छूट

वित्त मंत्री की अध्यक्षता में लगभग 7 महीनों बाद हुई 45वीं बैठक का आयोजन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुआ। इस परिषद की बैठक में सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के वित्त मंत्री और प्रतिनिधि भी शामिल रहे।

READ:  Covid: Britain's Intelligence Agency Admits Virus Leaked From Lab 'Possible

• इस बैठक की अध्यक्ष निर्मला सीतारमण ने बताया कि चिकित्सा सामग्री और टीके पर टैक्सेशन को लेकर मंत्रियों का समूह विचार करेगा।

• वित्त मंत्री ने ब्लैक फंगस के लिए जरूरी दवा एम्फेटेरेसिन बी के आयात में जीएसटी शुल्क पर छूट देने का निर्णय लिया है। ब्लैक फंगस की दवा पर वर्तमान में 5 % का टैक्स लगता है।

वित्त मंत्री के द्वारा बैठक में बताया गया कि पिछले साल की तरह इस साल भी राज्यों की जीएसटी की हानि की पूर्ति के लिए कर्ज उठाया जाएगा। इसकी कीमत 1.58 लाख करोड़ रुपए होगी।

जुलाई 2017 में लागू जीएसटी व्यवस्था

जुलाई 2017 में जीएसटी लागू करने के समय पर यह तय हुआ था कि राज्यों को 5 साल तक उनकी राजस्व में आने वाली कमी की भरपाई के लिए कुछ खास वस्तुओं पर उपकर लगाने की आवश्यकता पड़ेगी। इस उपकर का सीधा सा असर राजस्व की भरपाई के लिए जारी किया जाएगा।

READ:  Meet Ashok Shan whos shares his experience as Covid warrior

परिषद की बैठक को छोटे करदाताओं की माफी योजना के जरिए देरी से रिटर्न फाइल करने पर राह की घोषणा के साथ समाप्त किया गया।

%d bloggers like this: