Exclusive : जम्मू-कश्मीर में अगले 48 घंटे में शुरू होंगी ब्रॉडबैंड- इंटरनेट सर्विस

Ground Report Exclusive: Jammu and Kashmir internet broadband services restoration soon
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report Exclusiv | Jammu and Kashmir

बीते 5 महीनों से जम्मू-कश्मीर में बंद इंटरनेट सेवाएं अब जल्द ही शुरू होने जा रही है। इस मामले में जम्मू-कश्मीर से ग्राउंड रिपोर्ट के विशेष संवाददाता वाहिद भट्ट ने बताया कि केन्द्र सरकार अगले 48 घंटों में घाटी में एक बार फिर ब्रॉडबेंड इंटरनेट सेवा शुरू करने जा रही है। यह कश्मीर घाटी के लोगों के लिए राहत की खबर है।

सीनियर बीजेपी सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार संवाददाता वाहिद भट्ट ने बताया कि घाटी में पिछले लंबे वक्त से ब्रॉडबेंड-इंटरनेट सेवाएं बंद होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त था लेकिन केन्द्र सरकार इसका खाका तैयार कर चुकी है और अगले 48 घंटों में जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट सर्विस शुरू कर सकती है।

इसके बाद संवाददाता वाहिद भट्ट ने बताया कि, ब्रॉडबेंड-इंटरनेट सेवाओं को शुरू करने के लिए केन्द्र सरकार और बीजेपी की टॉप लीडरशिप बुधवार दोपहर एक प्रेस कॉफ्रेंस कर सकती है जिसमें ब्रॉडबेंड-इंटरनेट सेवाओं को शुरू करने की योजनाओं को चरणबद्ध तरीके से बताया जाएगा।

बता दें कि बीते शुक्रवार कश्मीर में इंटरनेट पर लगी रोक को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा था कि, इंटरनेट तक पहुंच लोगों का एक मौलिक अधिकार है। पांच महीनें पहले 5 अगस्त 2019 को मोदी सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए अनुच्छेद 370 हटाकर जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जे को रद्द कर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केन्द्र शासित प्रदेश के रूप में अलग कर दिया था। तब से जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट सेवाएं प्रतिबंधित हैं।

ALSO READ:  'There are no Answers, no Clarity Says Omar Abdullah after Meeting J&K Governor

हांलाकि सुप्रीम कोर्ट ने इससे जुड़े एक अहम फैसले में संविधान के अनुच्छेद 19 के तहत इंटरनेट के इस्तेमाल को एक मौलिक अधिकार करार देते हुये कहा था कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन को केन्द्र शासित प्रदेश में प्रतिबंध लगाने के सभी आदेशों की एक हफ्ते में समीक्षा करने का आदेश देना होगा। जिसके बाद अब खबर है कि जम्मू-कश्मीर में अगले 48 घंटों में ब्रॉडबेंट-इंटरनेट सेवा एक बार फिर शुरू होने की उम्मीद है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.