Home » ‘भारत विरोधी ग्रेटा थनबर्ग’ ने मांगी दुनिया से भारत के लिए मदद

‘भारत विरोधी ग्रेटा थनबर्ग’ ने मांगी दुनिया से भारत के लिए मदद

ग्रेटा थनबर्ग ने मांगी दुनिया से भारत के लिए मदद
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भारत में भयावह होती जा रही कोरोना की दूसरी लहर पर दुनिया भर की नज़र है। अस्पतालों में ऑक्सीज़न के लिए तड़प रहे मरीज़ों और हज़ारों मौतों के भयावह मंज़र की तस्वीरें अतर्राष्ट्रीय अखबारों की सुर्खियां बन चुके हैं। भारत के हालातों पर दुनिया भर में चिंता व्यक्त की जा रही है। इसी में एक नाम है स्वीडिश पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग का।

Greta Thunberg ने ट्वीट कर लिखा कि भारत से आ रही तस्वीरें दिल तोड़ने वाली हैं। मैं दुनिया भर से अपील करती हूं कि वे भारत को हर ज़रुरी मदद जल्द से जल्द मुहैया कराएं।

कौन हैं ग्रेटा थनबर्ग

Greta Thunberg स्वीडन की पर्यावरण कार्यकर्ता हैं। हाल ही में किसान आंदोलन के समय भी उन्होंने भारत सरकार की आलोचना में ट्वीट किया था जिसपर भारत सरकार की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज की गई थी। ग्रेटा पर एक टूल किट प्रसारित करने का आरोप लगा था। जिसका मकसद सरकार के अनुसार ‘भारत के खिलाफ साजिश करना और दुनिया भर में उसकी छवि धूमिल करना था’।

READ:  Hamid Mir controversy: Army vs Media in Pakistan

Greta Thunberg पर सरकार ने भारत विरोधी होने का आरोप लगा दिया था। इस पर विदेश मंत्रालय ने बकायदा बयान जारी कर आलोचना की थी। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसे गंभीर मुद्दा बताते हुए कहा था कि ‘भारत के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय साजिश की जा रही है’। प्रधानमंत्री मोदी ने भी अपनी एक रैली में भी कहा था ‘कुछ लोग भारत की छवि दुनियाभर में खराब करने की कोशिश कर रहे हैं’। भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने ग्रेटा पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी।

READ:  कोरोना फैलान में बिल गेट्स जिम्मेदार, चीन से बातचीत का 866 पन्नों का ईमेल चैट लीक

भारत में ग्रेटा के संगठन के साथ काम करने वाली पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवी को कई दिन तक जेल की हवा खानी पड़ी थी।

किसानों के समर्थन में किया गया ग्रेटा थनबर्ग के ट्वीट से भारत सरकार इतनी ज्यादा हिल गई थी कि पूरा तंत्र ग्रेटा को आतंकी घोषित करने पर अमादा हो गया था। कई जगह तो उनके पोस्टर जलाकर भी विरोथ किया गया।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।