Home » टीकाकरण की ज़िम्मेदारी सरकार के लिए पब्लिसिटी का बहाना ?

टीकाकरण की ज़िम्मेदारी सरकार के लिए पब्लिसिटी का बहाना ?

Vaccination | टीकाकरण की ज़िम्मेदारी सरकार के लिए पब्लिसिटी का बहाना ?
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk | Vaccination | देशभर में टीकाकरण की प्रक्रिया चालू है और आंकड़ों की माने तो हाल फिलहाल में गति में वृद्धि भी काफी हुई है। ऐसे में, केंद्र सरकार भी अपने कृत्यों के लिए प्रचार करने में पीछे नहीं हो रही है। पिछले कुछ दिनों में सभी मुख्य अखबारों के पहले पेज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद कहते हुए पूरे पेज में उनका प्रचार पत्र (Advertisement) छपा है, इसमें मोदी के साथ साथ अलग नेताओं की तस्वीरें हैं जो वैक्सीन के लिए उनका अभिनन्दन कर रहे हैं।

वैक्सीन के बहाने प्रचार करने की कोशिश ? Publicity on the name of vaccination ?

अखबारों में छपी तस्वीरों के साथ लिखा है की, ” सबको वैक्सीन, मुफ्त वैक्सीन … धन्यवाद् मोदी जी !” , हालाकिं सबको मुफ्त में टीका लगाना एक कानूनी प्रावधान है जो की आज़ादी के बाद से हर प्रकार की बीमारियों में सभी सरकारों ने किया है और सरकार की ज़िम्मेदारी भी रही है पर इस प्रकार का प्रचार किसी सरकार ने नहीं करवाया। दुरुस्त अर्थव्यवस्ता के लिए स्वस्थ नागरिकों का होना भी ज़रूरी है, महामारी के दौरान लगे लॉकडाउन के कारण भारत की अर्थव्यवस्था में जो बड़ी गिरावट सामने आयी है, उसके बाद सरकार का मुफ्त में टीकाकरण करना प्रमुख व मूल कर्तव्य है। ऐसे में मुआवजे के वक़्त कम बजट की तहरीर देकर पीछे हट जाने वाली सरकार जब टैक्स भरने वाली जनता के पैसे का ऐसे दुरूपयोग कर रही है तो वह सवालो के घेरे में आ जाता है।

READ:  Due to Covid: Every 12 seconds a child is losing his parents

भारतीय युथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास, जो की महामारी के दूसरी लहर के दौरान हर प्रार्थी की मदद करने की वजह से काफी मशहूर हुए, उन्होंने भी अखबारों की तसवीरें साझा कर ट्वीट किया और मोदी सरकार पर तंज कसा। 21 जून से केंद्र ने वैक्सीन का वितरण करने का काम अपने अंतर्गत लिया, इससे पहले वैक्सीन खरीदना और पहुंचना राज्यों सरकारों का काम था। कोरोना के बाद से जीडीपी में बड़ी गिरावट दर्ज की गयी थी, सरकारी रकम पर भी इसकी चोट ज़रूर गयी होगी, ऐसे में भाजपा द्वारा किये जा रहा हर जगह प्रचार से सियासी गर्मी ने भी तेज़ी पकड़ ली है।

READ:  From DA hike to AYUSH mission, important decisions of Modi cabinet

वैक्सीन का वर्ल्ड रिकॉर्ड या पब्लिसिटी स्टंट ? अचानक कैसे बना इतना बड़ा कीर्तिमान !

21 जून से वैक्सीन में तेज़ी दिखाने के लिए सरकार ने अपने भाजपा शाषित प्रदेशों में कुछ दिन पहले से टीकाकरण (Vaccination) की रफ्तार को धीमा कर स्टॉक जमा करके एक साथ 21 जून से लगाना शुरू कर दिया। महामारी के इस मुश्किल समय में सरकार द्वारा किये जा रहे ऐसे पब्लिसिटी स्टंट ने आलोचनाओं को खुद ही बुलावा दिया है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।