Home » यौन शोषण मामले में तरुण तेजपाल बरी, क्या हुआ था वर्ष 2013 में?

यौन शोषण मामले में तरुण तेजपाल बरी, क्या हुआ था वर्ष 2013 में?

Goa court acquits Tarun Tejpal, founder editor of Tehelka magazine
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Goa court acquits Tarun Tejpal, founder editor of Tehelka magazine: यौन शोषण मामले में तरुण तेजपाल को कोर्ट से बरी कर दिया गया है। तरुण तेजपाल पर उनकी सहकर्मी ने यौन शोषण का आरोप लगाया था। तेजपाल के खिलाफ गोवा पुलिस ने नवंबर 2013 में एफआईआर दर्ज की थी। इसके बाद 30 नवंबर को तरुण तेजपाल को गिरफ्तार कर लिया गया था और इस दौरान 6 महीने तक तरुण तेजपाल को जेल में ही रहना पड़ा। मई 2014 में तरुण जमानत पर बाहर आये। (Goa court acquits Tarun Tejpal, founder editor of Tehelka magazine)

तरुण तेजपाल पर उनकी सहकर्मी ने लगाया था आरोप
तरुण तेजपाल पर उनकी एक सहकर्मी ने अपना यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था गोवा के अतिरिक्त सत्र अदालत में इस मामले की सुनवाई हुई लड़की का आरोप यह है कि साल 2013 में गोवा के एक होटल में थींक नाम की एक पार्टी रखी गई जिसमे तरुण तेजपाल भी मौजूद थे इसी होटल में तरुण तेजपाल ने इनका यौन शोषण किया जिसके वजह से इनकी सहकर्मी ने इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज किया और तेजपाल जी को इस केस में गिरफ्तार कर लिया गया और अदालत भी भेजे गए कोर्ट ने जब फैसला सुनाया तो तेजपाल अदालत में मौजूद थे तेजपाल का फैसला 27 अप्रैल को आना था लेकिन इस दौरान फैसले की तारीख आगे टलती गई इस मामले में तेजपाल का पच्छ रखने वाले वक़ीलों की टीम के प्रमुख राजीव गोम्स की कोरोना बीमारी से पिछले सप्ताह मौत हो गई जिसके जरिये तेजपाल जी मई में जमानत पायें।

READ:  आत्महत्या समस्या का समाधान नहीं है

Parth Srivastava Suicide: CM Yogi की Social Media Team में काम कर रहे पार्थ श्रीवास्तव ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में इन पर लगाए गंभीर आरोप

यौन शोषण केस में सभी आरोपों से बरी हुए तरुण तेजपाल
तहलका पत्रिका के एडिटर इन चीफ तरुण तेजपाल यौन हिंसा मामले में सभी आरोप से बरी हो गए हैं। गोवा की एक कोर्ट ने यौन हिंसा मामले के सभी आरोपों से बरी कर दिया है जिससे तरुण तेजपाल को काफी राहत मिली है।

तेजपाल ने कोर्ट को धन्यवाद दिया
फैसला अपने पच्छ में आने के बाद तेजपाल ने कोर्ट को धन्यवाद देते हुए कहा कि, नवंबर 2013 में मेरी एक सहयोगी ने मुझ पर यौन हिंसा का आरोप लगाया आज सत्र न्यायालय ने मुझे इस आरोप से बरी कर दिया है इन वर्षों में कई वकीलों ने मुझे सेवाएं दी, मैं इन सभी का आभारी हूं और वहां के सभी वकीलों को धन्यवाद दिया।

READ:  Janjgir, woman strangled to death after gang-rape

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।