Home » Global Handwashing Day 2021: ऐसे हुई शुरुआत, यही है कोरोना जैसी बीमारी से भी बचने का इलाज

Global Handwashing Day 2021: ऐसे हुई शुरुआत, यही है कोरोना जैसी बीमारी से भी बचने का इलाज

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Global Handwashing Day 2021: बचपन से ही हमें साफ सुधरा रहने की हिदायत दी जाती है। कुछ भी काम करने से पहले और उसे करने के बाद हाथ धोना भी साफ— सफाई का हिस्सा है। साल 2019 में जब कोरोना संक्रमण फैला… उसके बाद से हाथ धुलाई पर बहुत जोर दिया। ताकि इस संक्रमण से बचा जा सके। क्योंकि हमारे हाथों में कई तरह के बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। जिससे कोरोना सहित हैजा, डायरिया जैसी बीमारी होने का खतरा बना रहता है। लोग हाथ की साफ सफाई का ध्यान रखें। इस वजह से हर साल 15 अक्टूबर को ग्लोबल हैंडवाशिंग डे (Global Handwashing Day 2021) मनाया जाता है। ताकि लोग इसके प्रति जागरुक हो सकें और इन बीमारियों से बच सकें।

हैंडवाशिंग डे की शुरुआत
डब्ल्यूएचओ के वैश्विक सुझावों में कोविड-19 महामारी को रोकने और नियंत्रित करने और इसे व्यवहार में लाने के लिए हाथों की स्वच्छता का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए हाल ही में डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ की अगुवाई में हैंड हाइजीन फॉर ऑल ग्लोबल इनिशिएटिव लॉन्च किया गया है। ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे की स्थापना 2008 में स्वीडन में की गई थी। ग्लोबल हैंडवॉशिंग पार्टनरशिप ने स्वीडन में आयोजित वर्ल्ड‍ वॉटर वीक में इस दिन की शुरुआत की थी, जिसका मकसद साबुन से हाथ धोने के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाना था।

यह कहता है शोध
ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज रिपोर्ट के मुताबिक हर साल लाखों बच्चों की मौत 5 साल पूरा करने से पहले सिर्फ निमोनिया और डायरिया जैसी बीमारियों के कारण हो जाती है। एक साल में 5 साल से कम उम्र के आयु के बच्चे लगभग 2 से 3 बार इन बीमारियों से पीड़ित होते हैं। इन बीमारियों का सबसे प्रमुख कारण साफ-सफाई को माना जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक हाथ के माध्यम से रोगाणुओं का संचार सबसे ज्यादा होता है। अगर आप रोगानुजनित बीमारियों से बचना चाहते हैं तो हैंड हाइजीन का ध्यान जरूर रखना चाहिए। अल्कोहल या साबुन आधारित हैंड वाश सबसे सुरक्षित और सही माने जाते हैं। अच्छे ढंग से हाथ धोने से आप निमोनिया और डायरिया जैसी घातक बीमारियों से बच सकते हैं।

READ:  भोपाल: LNCT University में तीन दिवसीय आर्टस ऑफ फिल्म मेकिंग कार्यशाला का समापन

http://Navratri special 2021: फलाहारी खाने को बनाएं और भी मज़ेदार, सिर्फ 30 मिनट में आसानी से रेडी हो जाती है ये 6 फलाहारी डिश

हाथ धुलने से इन बीमारियों से बच सकते हैं।

कुपोषण— हाथों में रोगाणुओं के होने से आपके भोजन का सही ढंग से अवशोषण नहीं हो पाटा है और पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व शरीर को नहीं मिलते हैं। दुनियाभर में 5 साल से कम उम्र की आयु वाले बच्चों की मौत में कुपोषण का योगदान 67 प्रतिशत तक है। इससे बचने के लिए जरुरी है कि साबुन से हाथ धोकर ही भोजन ग्रहण करें। कुपोषण और हाथ धोने को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से कहा गया है कि ‘अच्छे पोषण के लिए लगातार साबुन से हाथ धोना बहुत जरूरी है।”

हेपेटाइटिस ए (Hepatitis A)— हेपेटाइटिस ए की समस्या पीलिया, पेट दर्द और लिवर से जुड़ी अन्य बीमारियों का कारण बन सकती है। यह बीमारी सबसे ज्यादा दूषित भोजन से फैलती है और भोजन के दूषित होने का सबसे बड़ा कारण हाथों को सही ढंग से साफ न करना ही होता है। बाथरूम का उपयोग करने के बाद साबुन और पानी से अच्छी तरह से हाथ धोना, डायपर बदलना और खाना बनाने या खाने से पहले हाथ को अच्छी तरफ साबुन से धुलकर साफ करने से आप इस समस्या से बच सकते हैं।

डायरिया (Diarrhoea)— ज्यादातर लोगों में डायरिया की समस्या हाथों के साफ न होने के कारण होती है। हाथों में जीवाणुओं और रोगाणुओं की मौजूदगी ही इस समस्या का कारण बनती है। सही ढंग से हाथ न धोने के कारण आपके हाथों में हजारों रोगाणु मौजूद रहते हैं जो पानी पीते समय या भोजन के दौरान पेट में जाते हैं और बीमारियों का कारण बनते हैं। आप सही ढंग से हैंड हाइजीन के नियमों का पालन कर इस समस्या से बच सकते हैं।

READ:  Karwa Chouth 2021: पत्नी के व्रत को यूं बनाएं स्पेशल, प्यार में लगाएं रोमांस का तड़का!

कृमि संक्रमण— भारत में 1 से 14 साल की आयु के लगभग 241 मिलियन बच्चे आंत में कीड़ों की समस्या से ग्रसित होते हैं। इन बच्चों को आंत में परजीवी कीड़ों का खतरा बना रहता है। इन कीड़ों को सॉइल-ट्रांसमिटेड हेल्मिन्थ्स (एसटीएच) के नाम से भी जाना जाता है। इस समस्या से बचाव के लिए आप सिर्फ सही ढंग से अपने हाथों को साफ रखने का काम कर सकते हैं। हाथ की स्वच्छता से आप पेट में कृमि या कीड़ों की समस्या से बच सकते हैं।

कॉलरा या हैजा— हर साल हैजा के लगभग 1 से 1.4 मिलियन मामले आते हैं। हैजा के कारण पूरी दुनिया में 1 लाख से अधिक लोगों की मौत होती है। इस बीमारी से बचाव का सबसे सही उपाय साफ-सफाई और हैंड हाइजीन का सही ध्यान रखना है। आप जितना अपने हाथों की सफाई का ध्यान रखेंगें, उतना ही आप इन बीमारियों से दूर रहेंगे। इसलिए जरुरी है कि कुछ भी काम करने के बाद और खाना खाने से पहले साबुन से 2 मिनट तक हाथ धोएं।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitterInstagram, and WhatsappFor suggestions and writeups mail us at GReport2018@gmail.com

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.