शाह-मोदी की बढ़ी सक्रियता, समय से पहले होने वाले हैं आम चुनाव?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रिपोर्ट, राजीव पांडे

पिछले कुछ समय से जिस तरह सता पक्ष की सक्रियता बढी है,उससे लगता है भारत में 2019 से पहले आम चुनाव हो सकता है। इस बात की संभावना दो कारणों से बढी है। पहला बिजेपी के दो प्रमुख नेताओं नरेंद्र मोदी और अमित शाह द्वारा हाल मे किये जा रहे राज्यों के दौरे तथा दूसरा विपक्ष में एकजुटता की कमी।

महाराष्ट्र तथा बिहार के दौरे के बाद बिजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह फिलहाल उतर प्रदेश मे हैं जबकि प्रधानमंत्री मोदी विभिन्न परियोजनाओं की घोषणा एवं शिलान्यास करने में व्यस्त हैं। 29 जुलाई को प्रधानमंत्री मोदी ने लखनऊ में 60 हजार करोड़ के 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया तथा कुछ दिन पहले उन्होने खरीफ फसलों के समर्थन मूल्य में भी बढ़ोतरी की। इन घटनाक्रमों को जल्दी चुनाव कराने के संदर्भ में देखा जा रहा है।

READ:  What Amit Shah said on India China Tension?

विपक्ष बंटा हुआ है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जो विपक्ष कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के शपथग्रहण समारोह में एकजुट दिखा वो 20 जुलाई को संसद में लाए गये अविश्वास प्रस्ताव में नहीं दिखा। यहीं कारण है कि सता पक्ष के 326 मतों के मुकाबले विपक्ष को सिर्फ 126 मत ही मिल पाये ।

संयुक्त विपक्ष का नेता कौन होगा यह अभी तक तय नहीं हो पाया है। कांग्रेस महागठबंधन का नेता राहुल गांधी को बनाना चाहती है तो कुछ दल दलितों के नेता मायावती को। ममता बनर्जी का नाम भी आगे लाया जा रहा है हालांकि खुद ममता ने प्रधानमंत्री पद का नेता अभी नहीं चुने जाने की वकालत की है।
लिहाजा विपक्ष 2019 को ध्यान में रखकर लोकसभा चुनाव की तैयारियां कर रहा है, ऐसे मौके का फायदा उठाकर सरकार समय से पूर्व चुनाव करा सकती है ।

READ:  PM मोदी के 'डिजिटल इंडिया' पर आज भी भारी नज़र आती है अखिलेश यादव की लैपटॉप वितरण योजना !

लोकतंत्र में सता पक्ष को ये अधिकार होता है कि वह समय से पहले चुनाव करा सकता है। ऐसा कई देशों में देखा जाता है, इंग्लैंड में तो ऐसा कई बार देखा जा चुका है। पिछली बीजेपी की बाजपेई सरकार ने भी ऐसा किया था।

आपको बतादें कि बिजेपी के तीन बड़े राज्य मध्य प्रदेश, राजस्थान एवं छतीसगढ़ में इसी साल विधानसभा चुनाव हाेने वालै हैं ऐसे में सरकार विधानसभा के साथ लोकसभा का भी चुनाव करा सकती है ।