Home » HOME » उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को बड़ा झटका, पूर्व सांसद अन्नू टंडन ने इस कारण दिया इस्तीफा

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को बड़ा झटका, पूर्व सांसद अन्नू टंडन ने इस कारण दिया इस्तीफा

Former MP Annu Tandon resigns from Congress party
Sharing is Important

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है। यूपी में हो रहे उपचुनाव के बीच उन्नाव से सांसद रहीं अन्नू टंडन ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ समय से अन्नू टंडन कांग्रेस पार्टी से नाराज़ चल रही थीं। भाजपा में शामिल होने के कयास पर उन्होने कहा कि मैंने कुछ तय नहीं किया है। मैं सोच समझकर फैसला लूंगी।

कांग्रेस हाईकमान को भेजी गई चिट्ठी में अन्नू टंडन ने आरोप लगाया कि प्रदेश नेतृत्व के साथ उनका तालमेल नहीं बैठ पा रहा है। प्रदेश नेतृत्व सोशल मीडिया मैनेजमेंट और व्यक्तिगत ब्रांडिंग में लीन है। उन्होंने कहा कि 2019 में हारना मेरे लिए इतना कष्टदायक नहीं रहा, जितना पार्टी संगठन की तबाही और उसे बिखरते हुए देखकर हुआ।

बिना इजाजत कोई नहीं कर पाएगा आपको WhatsApp ग्रुप में एड, करें ये सेटिंग

चिट्ठी में अन्नू टंडन ने कहा कि मैंने अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष को भेज दिया है। मैं आज जिस मुकाम पर पहुंची हूं, वह कार्यकर्ताओं की देन है। मुझे विश्वास है कि हम सब मिलकर नए बदलाव के लिए एक ताकत की तरह उभरेंगे और जनता की आवाज बनेंगे। कार्यकर्ताओं से सलाह लेने के बाद आगे का निर्णय लिया जाएगा।

READ:  Akhilesh Yadav will not contest the UP assembly elections: Reports

पूर्व सांसद अन्नू टंडन ने कहा कि मेरे नेक इरादों के बावजूद मेरे बारे में कुछ लोगों के द्वारा झूठा प्रचार किया जा रहा है, जो मुझे अत्यंत कष्ट का अनुभव रहा है, तकलीफ ज्यादा होती है जब नेतृत्व द्वारा उसे रोकोने के लिए कोई कदम नहीं उठाया जा रहा हो। मेरी प्रियंका गांधी वाड्रा से बात हुई, लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया।

लॉकडाउन में अगर आपने समय से भरी हैं EMI तो मिलेगा Cashback, जानें कैसे?

आपको बता दें कि अन्नू टंडन, 2009 में कांग्रेस के टिकट पर उन्नाव से सांसद बनी थीं। 2014 और 2019 का चुनाव भी अन्नू टंडन ने कांग्रेस के टिकट पर लड़ा। 2014 के चुनाव में अन्नू टंडन चौथे और 2019 के चुनाव में तीसरे नंबर पर रही थीं। बताया जा रहा है कि बांगरमऊ उपचुनाव को लेकर मतभेद के बाद अन्नू टंडन ने पार्टी छोड़ दिया है।

READ:  अभिव्यक्ति की आज़ादी पर मंड़राते ख़तरे को पहचानना ज़रूरी…!

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।