Home » पांच नाबालिगों और 18 साल के युवक ने किया 10 साल की बच्ची से दुष्कर्म!

पांच नाबालिगों और 18 साल के युवक ने किया 10 साल की बच्ची से दुष्कर्म!

पांच नाबालिगों और 18 साल के युवक ने किया 10 साल की बच्ची से दुष्कर्म !
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk | Gangrape in Haryana | Minors held for Gangrape in Haryana | हरियाणा से एक बेहद चौका देने वाली खबर सामने आयी है जहाँ नाबालिगों ने मिलकर एक 10 वर्षीय बच्ची के साथ घिनौने अपराध को अंजाम दिया। रेवाड़ी जिले के एक गांव में पांचवी कक्षा की एक छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार करने की घटना हुई जिसके बाद पुलिस ने 18 वर्षीय एक व्यक्ति और पांच नाबालिगों को गिरफ्तार किया है। उन लड़कों ने इस पूरी घटना का वीडियो भी बनाया।

Sushant Singh Rajput पर फिल्म बनाने पर दिल्ली हाईकोर्ट ने कही यह बात

बलात्कार के आरोपी पांच नाबालिगों की उम्र 10 से 12 के बीच है। 10 वर्षीय लड़की के परिवार ने अपनी शिकायत में कहा कि घटना 24 मई को हुई जब पीड़िता अपने घर के बाहर खेल रही थी। उन्हें ये पूरी बात तब पता चली जब इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद उनके पास तक पंहुचा। आरोपियों से पूछताछ करने वाली टीम का हिस्सा रहे एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि लड़कों ने कहा कि उन्होंने 18 वर्षीय व्यक्ति के उकसाने पर और अश्लील वीडियो देखने के बाद लड़की के साथ बलात्कार किया।

READ:  Israel के हवाई हमले में गाजा की इकलौती Corona testing lab तबाह, अब तक 217 की मौत

रेवाड़ी डीएसपी (मुख्यालय) हंसराज ने कहा कि पीड़िता के परिवार ने 8 जून को शिकायत दर्ज कराई थी। सभी लड़के उस लड़की को घर के पास के सरकारी स्कूल में ले गए वहां उन्होंने उसके साथ दुष्कर्म किया और घटना को रिकॉर्ड कर लिया। उन्होंने लड़की को मारपीट के बारे में किसी को बताने पर गंभीर नतीजे भुगतने की धमकी दी। वीडियो वायरल करने के बाद, उन्होंने पीड़िता को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया।18 वर्षीय को रेवाड़ी की एक स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया गया, जिसने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया और पांच किशोरों को एक निगरानी गृह भेज दिया गया। घटना को फिल्माने के लिए तीन नाबालिगों को गिरफ्तार किया गया था और उन्हें 10 जून को एक अवलोकन गृह (observation home) भेजा जाएगा।

Kanpur Road Accident: कानपुर में भीषण सड़क हादसा, 16 की मौत कई घायल

रेवाड़ी डीएसपी ने कहा, “पीड़ित और आरोपी नाबालिगों की काउंसलिंग की जाएगी।” आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 376DB (12 साल से कम उम्र की महिला से सामूहिक बलात्कार), यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (POCSO) अधिनियम की धाराओं के तहत सूचना प्रौद्योगिकी (IT) अधिनियम और अनुसूचित जाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

READ:  PhD Scholar Sonia Dabas Suicide Case: अवैध संबंध बनाने का दबाव डाल रहा था विभाग का प्रोफेसर

हरियाणा राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग (HSCPCR) की अध्यक्ष ज्योति बैंदा ने कहा, “यह एक भयावह घटना थी। घटना के डेढ़ महीने बाद तक पीड़िता ने अपने माता-पिता से बात नहीं की। हम लड़की की देखभाल के लिए एक सहायक व्यक्ति प्रदान करेंगे। चूंकि सभी आरोपी लड़की को जानते थे, इसलिए मैंने उसके पड़ोस की स्थिति रिपोर्ट मांगी है। अगर जरूरत पड़ी तो हम लड़की को बाल गृह में शिफ्ट कर देंगे।”

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.