UP : सोनभद्र की पहाड़ियों में 3000 टन सोना दबा होने का अनुमान

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र ज़िले में में ज़मीन के अंदर सैकड़ों टन सोना दबा होने का पता चला है। राज्‍य के खनिज विभाग ने इसकी पुष्टि की है और जल्द ही विभाग इस सोने को निकालने के लिए खुदाई शुरू कर देगा। ई-टेंडरिंग से इसकी नीलामी का आदेश भी जारी कर दिया गया है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि यहां की सोन पहाड़ी में 2943.25 टन सोने का भंडार हो सकता है। 15 साल पहले जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम ने अध्ययन के आधार पर यहां बड़ा स्वर्ण भंडार होने का दावा किया था। 

मुसलमानों को 1947 में ही पाकिस्तान भेज दिया जाना चाहिए था !

जीएसआई ने यहां की ज़मीन में 90 टन एंडोलुसाइट, नौ टन पोटाश, 10 लाख टन सिलेमिनाइट के भंडार की भी खोज की है और जल्द ही इन धातुओं की खुदाई का रास्ता भी साफ़ हो सकेगा। भूतत्व और खनिज विभाग ने ने ई-ऑक्शन यानी नीलामी की प्रक्रिया के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है और जल्द ही सोने के ब्लॉकों की नीलामी कर दी जाएगी। इससे पहले खनिज स्थलों की जियो टैगिंग के लिए सात सदस्यीय टीम गठित कर दी गई है। इसकी रिपोर्ट 22 फरवरी तक लखनऊ को सौंपी जाएगी।  बता दें कि भारत सरकार के पास 618 टन सोना रिजर्व है।

READ:  UP Panchayat Elections: कठपुतलियों की तरह इस्तेमाल होती महिला प्रधान

ट्रंप साहब.. आपका गणित कमज़ोर मालूम पड़ता है, अहमदाबाद की आबादी 70 लाख है एक करोड़ नहीं

Rajasthan Budget 2020: सरकार ने खोला नौकरियों का खज़ाना

READ:  Alarming rise in Covid wave in Delhi: 17282 cases in a day, 104 dead

2005 से ही यहां जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (जीएसआई) की टीम ने अध्ययन करके सोनभद्र में सोना होने का दावा किया था। इसकी पुष्टि 2012 में हुई थी कि सोनभद्र की पहाड़ियों में सोना मौजूद है। लेकिन, इस दिशा में अब तक काम शुरू नहीं हुआ था। मगर, अब प्रदेश सरकार ने तेजी दिखाते हुए सोने के ब्लॉक के आवंटन के संबंध में प्रक्रिया शुरू कर दी है। करीब 12 लाख करोड़ रुपए की खनिज संपदा मिलने का अनुमान है।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।