father-playing-ludo-beat-daughter-7-times-daughter-breaks-relationship-case-in-bhopal-family-court-75421 https://www.youtube.com/watch?v=7hwF5EepeT4&t=50s

LUDO खेल रहे पिता ने बेटी को लगातार 7 बार हराया, बेटी ने रिश्ता तोड़ा, मामला फैमिली कोर्ट में

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

लॉकडाउन के बीच राजधानी के फैमिली कोर्ट में तरह-तरह के मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना संक्रमण के चलते लगे लॉकडाउन में लोगों मे कई तरह के परिवर्तन देखने को मिले हैं। कहीं बिखरे रिश्ते जुड़े हैं तो कहीं अच्छा खासा परिवार बिखर गया। भोपाल से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने एक बार फिर लोगों को आश्चर्य में डाल दिया है, जहां लूडो गेम (Ludo Game) में पिता ने बेटी (Father-Daughter) की गोटी मार दी तो बेटी ने पिता से रिश्ता ही तोड़ दिया। मामला भोपाल फैमिली कोर्ट (Bhopal Family Court) पहुंच गया है।

लॉकडाउन के बाद लगे अनलॉक के बीच मामला भोपाल की फैमिली कोर्ट (Bhopal Family Court) में आया है, जिसको सुनकर खुद काउंसलर भी हैरान हैं। भोपाल की रहने वाली 24 वर्षीय युवती जो खुद अपनी काउंसलिंग कराने काउंसलर के पास आई। 24 वर्षिय युवती कॉलेज में पढ़ाई कर रही है उसे लगता था कि उसके पिता उससे बहुत प्यार करते हैं, लेकिन जब पिता ने लूडो में गोटी मारी तो बेटी को पिता से ही नफरत हो गई।

विदेश से घर आया बेटा था कोरोना संक्रमित, माँ को फैला वायरस, दिल्ली में तोड़ा दम

फैमली कोर्ट मामले में सीरियस
फैमिली कोर्ट की काउंसलर सरिता राजानि ने बताया कि लॉकडाउन में बच्चे मोबाइल फोन के साथ ही क्रिकेट, फुटबॉल, या कैरम, चेस और लूडो जैसे गेम खेलकर समय व्यतीत कर रहे हैं, जिससे कहीं रिश्ते मजबूत हो रहे हैं तो कहीं इसका उल्टा असर भी देखने को मिल रहा है। ये भी ऐसा ही मामला है। उन्होंने बताया कि युवती की काउंसलिंग चल रही है। उन्होंने इसे गंभीरता से ले लिया है।

पापा मेरे लिए खुद भी हार सकते थे लेकिन उन्होंने मुझे हराया
युवती का कहना है कि उसके पिता उससे बहुत प्यार करते हैं। लेकिन अगर वो प्यार करते हैं तो उन्होंने मेरी गोटी क्यों मारी। युवती का कहना है कि पापा मेरे लिए गेम हार भी सकते थे, लेकिन उन्होंने मुझे हराया। पापा ने एक बार नहीं 7 बार मेरी गोटी मारी और जब-जब उन्होंने गोटी मारी तब तब मेरी नफरत बढ़ती गई। अब बेटी इस बात से भी परेशान है कि उसको अपने पापा से नफरत क्यों हुई और इसी बात की कॉउंसलिंग के लिए वो काउंसलर सरिता राजानि के पास आई। मामले की कॉउंसलिंग जारी है।

मुझे राजीव लौटा दीजिए, नहीं तो शांति से राजीव के आसपास इसी मिट्टी में मिल जाने दीजिए !

युवती के पिता ही है उसकी मां
युवती की मां नही है वो अपने पिता और 2 भाई बहन के साथ रहती है। लॉकडाउन में जब स्कूल कॉलेज बंद हुए तो लड़की के पिता भी वर्क फ्रॉम होम कर रहे थे और 2 भाई बहन और पिता के साथ लॉकडाउन में युवती अपने परिवार के साथ समय व्यतीत कर रही थी। लॉकडाउन में टाइम पास करने के लिए जब युवती ने पिता को लूडो गेम खेलने के लिए कहा तो पिता ने अपने बच्चों के साथ अच्छा समय व्यतीत करने के लिए लूडो गेम खेलना शुरू कर दिया। लेकिन क्या पता था कि एक गेम पिता ओर बेटी के रिश्ते में दरार पैदा कर देगा।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।