Home » Farmers Protest: मोदी सरकार के साथ हुई बैठक के बाद किसानों ने लिया इतना बड़ा फैसला

Farmers Protest: मोदी सरकार के साथ हुई बैठक के बाद किसानों ने लिया इतना बड़ा फैसला

APMC AND MSP
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Farmers Protest: Meeting between farmers and Modi government unsuccessful: किसान संगठनों और मोदी सरकार के बीच तीन नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली के विज्ञान भवन में बैठक बेनतीजा रही। लंबी बातचीत के बावजूद मोदी सरकार किसानों को कोई ठोस जवाब नहीं दे पाई और किसानों की नाराजगी दूर करने में सरकार हर मोर्चे पर विफल नजर आई। अब किसानों और सरकार के बीच अगली मीटिंग तीन दिसंबर को होगी। वहीं, केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब और हरियाणा से आए हजारों किसानों का पिछले पांच दिनों से हल्ला बोल जारी है। (Farmers Protest: Meeting between farmers and Modi government unsuccessful)

मन की बात में किसान आंदोलन पर मौन रहे प्रधानमंत्री मोदी

देश की राजधानी दिल्ली की सीमा पर सटे हजारों किसान बीते पांच दिनों से धरने पर बैठे हैं और हाल में दिल्ली पहुंचना चाहते हैं। किसान आंदोलन का आज छठवा दिन है। किसानों के मुताबिक, सरकार के नए कानून में न्यूनतम समर्थन मूल्य खत्म हो जाएगा। किसानों के प्रदर्शन के चलते सिंघु और टिकरी बॉर्डर बंद है। वहीं गाजीपुर बॉर्डर पर ठोस बैरिकेडिंग की गई। (Farmers Protest: Meeting between farmers and Modi government unsuccessful)

READ:  लखीमपुर में हिंसा के बदले हिंसा, यह गांधी का देश है?

Farmers Protest: इतने बड़े किसान आंदोलन पर राहुल गांधी का एक मात्र ट्वीट क्या कहता है?

किसान संगठनों की ओर से बैठक में शामिल हुए किसान चंदा सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि, हम सरकार के सुझावों और बातचीत से संतुष्ट नहीं है। सरकार के पास हमारी बातों का कोई ठोस जवाब नहीं है। उन्होंने कहा कि, हमारा आंदोलन कृषि कानूनों के खिलाफ आगे भी जारी रहेगा। हम सरकार से हमारा हक वापस लेकर रहेंगे। हम फिर से सरकार से बातचीत करने के लिए वापस आएंगे। अब अगली बैठक 3 दिसंबर को होगी।

आंदोलन खत्म करवाने में मोदी सरकार हर मोर्चे पर विफल, बैठक में किसानों ने लिया ये निर्णय

वहीं किसान संगठनों के साथ बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हम आंदोलन खत्म करवाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। किसानों के साथ हुई हमारी बैठक अच्छी रही है। हम हमारी ओर से पूरी कोशिश कर रहे हैं। हमने फैसला किया है अब इस बैठके के बाद अगली बैठक 3 दिसंबर को होगी जिसमें आगे की बातचीत की जाएगी। उन्होंने कहा कि, हम चाहते थे कि एक छोटा सा समूह बनाया जाए, लेकिन किसान नेता चाहते हैं कि सभी से बातचीत हो। हमें इससे कोई समस्या नहीं है।

READ:  Lakhimpur Violence: What has happened so far

आंदोलन खत्म करवाने में मोदी सरकार हर मोर्चे पर विफल, बैठक में किसानों ने लिया ये निर्णय

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.