Home » मुआवज़े की मांग को लेकर किसानों ने कलेक्टर दफ्तर में ज़हर खाया

मुआवज़े की मांग को लेकर किसानों ने कलेक्टर दफ्तर में ज़हर खाया

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट| महाराष्ट्र

मुआवज़े की राशि को लेकर महाराष्ट्र के अकोला में 6 किसानों ने आत्महत्या की कोशिश की। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की महा जनादेश यात्रा के 1 दिन पहले अकोला में 6 किसानों ने जहर खाकर आत्महत्या की कोशिश की। उनका आरोप है कि नेशनल एक्सप्रेस हाईवे के विस्तारीकरण में उनकी जमीन को ले तो लिया गया लेकिन उन्हें मुआवजा देने में आनाकानी की जा रही है। बड़ी बात तो यह है इन किसानों ने आकोला के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर के ऑफिस में विषपान किया। सभी किसानों का इलाज डिस्ट्रिक्ट गवर्नमेंट हॉस्पिटल में चल रहा है और उनकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है।

सभी किसान कनेरी गवली, शेलर और व्याला गांव के बताए जा रहे हैं। उनकी जमीन धुले- कोलकाता एक्सप्रेस वे नंबर 6 विस्तारीकरण के लिए ले ली गई थी। किसानों के नाम मुरलीधर राउत, अर्चना टकले, आशीष हिवकर, साजिद इकबाल, अफजल रंगारी और अबरार अहमद है।

READ:  Jammu and Kashmir: Makhanlal Bindroo के घर पहुंची Mehbooba Mufti, कश्मीरी पंडितों की हत्या पर कही ये बात

यह सभी किसान पिछले 2 सालों से उनकी ली गई जमीन के बदले मिलने वाली मुआवजे की राशि को बढ़ाकर देने की मांग कर रहे थे। आज उन्हें यह बता दिया गया कि उन्हें मुआवजा बढ़ाकर नहीं दिया जाएगा जिससे निराश होकर उन्होंने यह घातक कदम उठाया। सूत्रों के अनुसार किसानों ने 29 जुलाई को पत्र लिखकर कलेक्टर को चेतावनी दी थी यदि उनकी मुआवजे की राशि बढ़ाकर नहीं दी गई तो वे आत्महत्या करेंगे। महाराष्ट्र विदर्भ का इलाका सूखे से परेशान है और किसानों की आत्महत्या की घटनाओं को लेकर सुर्खियों में बना रहता है।