Tue. Oct 15th, 2019

सरकार ने 16 फीसदी तक बढ़ा-चढ़ाकर पेश किए बाघों की संख्या के आंकड़े: रिपोर्ट

इंडियन एक्सप्रेस की एक विशेष रिपोर्ट में बाघों की गिनती की प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए बताया गया है कि सरकार द्वारा बताई गई बाघों की संख्या असल बाघों से अधिक है.

हर साल 29 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस मनाया जाता है. इस साल इस दिन मोदी सरकार ने पर्यावरण संरक्षण पर जोर देते हुए 29 जुलाई को बाघ सर्वेक्षण जारी करने के लिए एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन किया था. कार्यक्रम में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चार साल में होने वाले बाघ सर्वेक्षण को जारी किया और इस तथ्य पर विशेष प्रकाश डाला कि बीते पांच वर्षों में यानी मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में बाघों की संख्या में अच्छी-खासी बढ़ोतरी हुई.

यह भी पढ़ें : आयुष्मान योजना के तहत कानपुर के कार्डियोलॉजी में बच रही ग़रीबों की जान

उन्होंने बताया कि 2018 में बाघों की संख्या बढ़कर 2,967 हो गई है जो 2014 में 2,226 थी. यानी लगभग 33 प्रतिशत फीसदी का इजाफा. इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया था कि इन 2,967 के तकरीबन 83 प्रतिशत के फोटोग्राफ भी मौजूद हैं. पिछली बार के 2,226 बाघों में 1,635 यानी करीब 73 फीसदी के फोटो होने की बात कही गई थी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक 2015 सर्वेक्षण में बाघों की संख्या के आंकड़े 16 फीसदी तक बढ़ा-चढ़ाकर पेश किए गए. सीधे शब्दों में हर सात में से एक बाघ की दोहरी गणना हुई. एक ही बाघ की तस्वीरों को दो या तीन बार गिन लिया गया है. कई जगह अलग-अलग बाघों के सेट में एक ही बाघ की तस्वीर का दोहराव भी है.

पढ़ें: कानपुर के इस हीरा कारोबारी ने डुबो दिए 14 बैंकों के 3635 करोड़ रुपये!

इस रिपोर्ट के अनुसार इस बार जारी बाघों के आंकड़े से संबंधित तस्वीरों को सार्वजनिक नहीं किया गया है लेकिन पिछले सर्वे के फोटो को इंगित करते हुए अधिकारियों का कहना है कि इतनी बड़ी संख्या में खींची बाघों की तस्वीरों में गड़बड़ी होने की संभावना बहुत कम है.

पढ़ें : गाय की आत्मा की शांति के लिए गांव वालों ने कराया 4 हज़ार लोगों को भोजन.

रिपोर्ट के अनुसार करीब 51 फोटो डुप्लीकेट पाए गए- यानी ये तस्वीरें एक ही बाघ की थीं. बाघों की संख्या बढ़ी है लेकिन आधिकारिक तस्वीरें दिखती हैं कि फोटो में दिखाए जा रहे सात बाघों ने से कम से कम एक कागजी है, जिसकी तस्वीर दो बार ली गयी है या कभी तीन बार भी.

GST काउंसिल बैठक: किन चीज़ों पर मिली राहत, क्या हुआ मंहगा:देखें

इन सभी मानकों को मानें, तो इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार कुल मिलाकर 282 ऐसी तस्वीरें ऐसी हैं, जिन्हें नहीं गिना जाना चाहिए था. यानी कुल 1, 696 में से केवल 1,414 बाघ असल में हैं- जो कि सरकार के दावे से 221 कम है.

विस्तृत रिपोर्ट को इंडियन एक्सप्रेस की वेबसाईट पर पढ़ा जा सकता हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: