Home » Sri Lanka: कुएं की खुदाई में मिला बेशकीमती नीला पत्थर, मालिक के उड़ गए होश!

Sri Lanka: कुएं की खुदाई में मिला बेशकीमती नीला पत्थर, मालिक के उड़ गए होश!

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Sri lanka : हमने अपने पूर्वजों से अक्सर किसी और कहानियों में खजाने निकलने की बातें सुनी है। कई बार उनके सपनों में खोकर हमने सपनो के घर भी बनाए हैं लेकिन श्रीलंका(sri lanka) के एक व्यक्ति की आंखें तब चौंधिया गई जब उसने घर की खुदाई में एक बेशकीमती नीला पत्थर(sapphire cluster) पाया। जी हां श्रीलंका(sri lanka) के रतनापुर में रहने वाले एक व्यक्ति के घर में कुएं की खुदाई के दौरान उसे एक ऐसा पत्थर मिला जो कि वाकई बेशकीमती(expensive stone) था। इसे देखने के बाद उस व्यक्ति ने उसे निकलवाने की सोची जिसके बाद ये बात खुलकर सामने आई।

आइए जानते हैं कैसे मिला खजाने का सुराग

आपको बता दें कि श्रीलंका(Sri Lanka) के रतनपुरा में रहने वाले एक व्यक्ति ने घर में सुविधाओं का लुत्फ उठाने के लिए एक कुआं बनवाने का निर्णय लिया जिसके बाद उसने एक व्यक्ति से कहकर अपने घर में कुएं की खुदाई शुरू करा दी। खुदाई होने के कुछ फीट बाद ही जमीन में एक पत्थर(unknown stone) आने की वजह से उस जगह पर खुदाई में दिक्कत आने लगी तब मजदूर ने उस व्यक्ति को इस बात की जानकारी दी। पता लगाया तो वहां कुछ विचित्र प्रकार का पत्थर दिख रहा था जिसका रंग नीला था। इसके बाद जब उस व्यक्ति ने उसकी जानकारी दी तो पता लगा की उस स्थान पर दबा पत्थर 25 लाख कैरेट का है।

READ:  Mehbooba Mufti on J&k : केंद्र पर फूटा महबूबा का गुस्सा - कहा कि हमे खालिस्तानी और पाकिस्तानी कहकर हिंदू मुस्लिमों में बांटा जा रहा।

AIPP के कार्यवाहक अध्यक्ष अशोक चौहान नें की केंद्रीय पंचायती राज राज्य मंत्री कपिल पाटिल से अहम मुलाक़ात

पत्थर को दिया गया नाम

एक्सपर्ट्स ने घर से मिले इस नीलम के पत्‍थर को सेरेंडिपिटी सफायर नाम दिया है। इसका मतलब है किस्मत से मिला नीलम। इस नीलम का वजन करीब 510 किलो बताया जा रहा है, ये पत्थर 25 लाख कैरेट का है।

बेशकीमती पत्‍थरों का व्‍यापार करने वाले एक कारोबारी ने बताया कि यह नीलम का पत्‍थर एक व्‍यक्ति को उसके घर के पीछे कुएं की खुदाई के दौरान अचानक मिला है। विशेषज्ञों का मानना है कि इस नीलम के पत्‍थर की कीमत अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में करीब 10 करोड़ डॉलर है।

माना जाता है कि रत्नपुरा इलाके में कई सारे रत्न दबे हुए है। यही वजह है की इस जहाज का नाम रतनपुरा रखा गया  है।

READ:  Taliban update :क्या सच में अखुंदजादा को उतार दिया गया मौत के घाट, मुल्ला बरादर को भी बनाया गया बंधक?

दुनिया का सबसे बड़ा रत्न निर्यातक देश है श्रीलंका

आपको बता दें कि श्रीलंका ने रत्न निर्यात के नाम पर अपने आप को पहले नंबर पर रखा है। इसके पीछे का कारण ये है कि यहां पर रत्नों की संख्या काफी अधिक मात्रा में है। पिछले वर्ष की रिपोर्ट के अनुसार श्रीलंका ने 50 करोड़ डॉलर पत्थरों के निर्यात से कमाए हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।