Home » HOME » दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा से जुड़ी हर ज़रूरी बात जानना है, तो ये ख़बर आपके लिए ही है…

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा से जुड़ी हर ज़रूरी बात जानना है, तो ये ख़बर आपके लिए ही है…

मोटेरा स्टेडियम
Sharing is Important

क्रिकेट फैंस लंबे समय से अहमदाबाद में बने दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा में बैठकर मैच का आनंद लेने का इंतजार कर रहे थे। अब उनका यह इंतजार खत्म होने वाला है, क्योंकि 24 फरवरी से यहां भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट मैच खेला जाएगा। कोरोना गाइडलाइन के चलते एक लाख 10 हजार दर्शक क्षमता वाले इस स्टेडियम में फिलहाल 50 फीसदी ही दर्शक मैच देख पाएंगे।

भारत में पहली बार LED लाइट्स का उपयोग

अभी तक हमने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में ही LED लाइट्स का इस्तेमाल देखा है, लेकिन ऐसा अब मोटेरा स्टेडियम में भी देखा जा सकता है। LED लाइट्स का उपयोग करने वाला भारत का यह पहला स्टेडियम होगा। LED लाइट्स के इस्तेमाल से परछाई नजर नहीं आएंगी।

मोटेरा क्लब हाउस

मोटेरा में अत्याधुनिक क्लब हाउस भी है, जिसमें 50 डीलक्स रूम और पांच सूट रूम, इनडोर और आउटडोर गेम्स, रेस्तरां, ओलिंपिक साइज का स्वीमिंग पूल, जिम्नेशियम, पार्टी एरिया, 3डी प्रोजेक्टर थियेटर/टीवी रूम हैं।

इन-बिल्ट जिम्नेशियम के साथ 4 ड्रेसिंग रूम

स्टेडियम के साथ 4 ड्रेसिंग रूम हैं। यह इस सुविधा के साथ दुनिया का एकमात्र स्टेडियम है। हर एक ड्रेसिंग रूम से जिम्नेशियम अटैच्ड है। स्टेडियम में 6 इनडोर पिच हैं, जहां बाॅलिंग मशीनों की भी फैसिलिटी है।

ऑस्ट्रेलिया का मेलबर्न था सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम

इससे पहले दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न का नाम शुमार था। मोटेरा स्टेडियम की दर्शक क्षमता 1 लाख 10 हजार है। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) की क्षमता एक लाख दर्शक है। ऐसे में मोटेरा दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है।

READ:  दिल्ली से छत्तीसगढ़ जा रही दुर्ग एक्सप्रेस की 4 बोगियों में लगी आग, देखें वीडियो

76 कॉर्पोरेट बॉक्स

स्टेडियम में 76 कॉर्पोरेट बॉक्स हैं। VIP इन्हीं कॉर्पोरेट बॉक्स में बैठकर मैच का लुत्फ उठाएंगे। हर एक बॉक्स में 25 सीटें हैं। इसका मतलब है कि स्टेडियम में बड़ी हस्तियों के लिए 1900 सीटें आरक्षित हैं। इसके अलावा, हर एक स्टैंड में फूड और हॉस्पिटैलिटी की व्यवस्था है, जिससे किसी भी कोने में बैठे दर्शक को ये सुविधा मिल सकेगी।

दुनिया का पहला स्टेडियम, जहां 11 मल्टीपल पिच

‘मोटेरा की 11 पिच में से 5 के निर्माण में लाल मिट्टी और बाकी 6 में काली मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। मोटेरा में मेन ग्राउंड के अलावा, दो प्रैक्टिस ग्राउंड भी हैं। दोनों में 9-9 मल्टीपल पिच हैं। इनमें भी 5 पिचें लाल मिट्टी और 4 काली मिट्टी से बनाई गई हैं।’

700 करोड़ की लागत से बना मोटेरा

करीब 700 करोड़ रुपए की लागत से बने इस स्टेडियम में ओलिंपिक साइज का स्विमिंग पूल भी है। स्टेडियम में 4 ड्रेसिंग रूम हैं। 63 एकड़ में पूरा स्टेडियम परिसर है। इसके अलावा बॉक्सिंग, बैडमिंटन, टेनिस के लिए अलग से कोर्ट बने हुए हैं। इतना ही नहीं, हॉकी और फुटबॉल फील्ड भी इसी परिसर में हैं।

360 डिग्री स्टेडियम

हम आमतौर पर क्रिकेट स्टेडियम में देखते हैं कि दर्शक हमेशा आगे की लाइन में ही बैठना पसंद करते हैं, क्योंकि इससे मैच बिना किसी रुकावट के देखा जा सकता है। वहीं, मोटेरा स्टेडियम की खासियत यह है कि स्टेडियम के बीच में एक भी पिलर या अन्य कोई अड़चन नहीं है। इसका मतलब है कि किसी भी स्टैंड में बैठकर मैच का लुत्फ उठाया जा सकता है।

READ:  अभिव्यक्ति की आज़ादी पर मंड़राते ख़तरे को पहचानना ज़रूरी…!

30 मिनट में सूख जाएगा मैदान

आमतौर पर यही होता है कि बारिश रुकने के काफी देर तक भी मैच स्टार्ट नहीं होता, क्योंकि इसके बाद पूरे स्टेडियम को सुखाना पड़ता है। यह समस्या मोटेरा स्टेडियम में नहीं आएगी, क्योंकि यहां सब सॉइल ड्रेनेज सिस्टम ही इस तरह बनाया गया है कि इसे मात्र 30 मिनट में ही सुखा लिया जाएगा। यानी कि 8 सेमी तक बारिश होने पर भी मैच रद्द नहीं होगा।

Why reservation is still necessary to uplift the depressed classes?

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।