Electronic car will now be used in this department

Electronic car : इस विभाग में अब इलेक्टॉनिक कार होगी इस्तेमाल

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट काॅर्पोरेषन लिमिटेड पहली स्मार्ट सिटी कंपनी बन गया है, जिसने अपने यहां इस्तेमाल किये जाने वाले डीजल वाहनों को इलेक्टाॅनिक वाहनों (Electronic car) से तब्दील कर दिया हैं। स्मार्ट सिटी कंपनी ने पूल वाहन व अधिकारियों को एलाॅट डीजल वाहनों को इलेक्ट्राॅनिक वाहनों से रिप्लेस कर दिया है। शुरुवात मे 8 इलेक्ट्राॅनिक 4 पहिया वाहन भोपाल स्मार्ट सिटी कंपनी में शामिल हुए हैं। इससे पर्यावरण के साथ-साथ स्मार्ट सिटी पर ख़र्च भी कम होगा।

मध्य प्रदेश उपचुनाव: बीजेपी की योजना जमीनी स्तर पर तय!

भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट काॅर्पोरेषन लिमिटेड के सीईओ आदित्य सिंह ने बताया कि इन वाहनों को रिचार्ज करने के लिए स्मार्ट सिटी परिसर व अन्य स्थानों पर भी चार्जिंग प्वाइंट लगाए जा रहे हैं। इस टर्बो चार्जरों से आधे घंटे में वाहनों को चार्ज किया जा सकता है । वाहन फूल चार्ज होने पर एक बार में 100 से 150 किलोमीटर तक की दूरी तय कर सकता है। भोपाल स्मार्ट सिटी देश की पहली स्मार्ट सिटी कंपनी बन गई है जिसके पास ऑफिस व फिल्ड वर्क के लिए इलेक्ट्राॅनिक वाहन (Electronic car) है।

ALSO READ:  मध्य प्रदेश उपचुनाव 2020: 24 सीटों के लिए कांग्रेस की प्लानिंग, कमलनाथ को मिली ये दो अहम जिम्मेदारी

शहर में प्रदुषण का स्तर कम करने के लिए भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट काॅर्पोरेषन लिमिटेड इलेक्ट्राॅनिक वाहनों को बढ़ावा देने की दिषा में कार्य कर रहा है। इसी क्रम में भोपाल स्मार्ट सिटी कंपनी मल्टीलेवल पार्किंग में 50 से 55 चार्जिंग पॉइंट लगाने जा रही है। न्यू मार्केट, एम.पी. नगर और संत हिरदाराम मल्टीलेवल पार्किंग में लगाया जाएगा।

मध्य प्रदेश उपचुनाव : अंदरूनी कलह से जूझ रही बीजेपी, प्रत्याशी चयन करना मुश्किल!

इसके अलावा भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट काॅर्पोरेषन लिमिटेड ने ई-बाइक परियोजना को पीबीएस से जोड़ने की कार्य योजना पर तेजी से कार्य कर रहा है। ई-बाइक पीबीएस की तर्ज पर मिलेंगी यह भी जीरो कार्बन उत्सर्जन होंगी। वर्तमान में स्मार्ट सिटी कंपनी 500 सायकिलों का संचालन कर रही है। इसके लिए डेडिकेटेड सायकिल ट्रैक व डाॅकिंग पॉइंट्स बनाए गए है।

ALSO READ:  मध्य प्रदेश उपचुनाव : अंदरूनी कलह से जूझ रही बीजेपी, प्रत्याशी चयन करना मुश्किल!

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।