Home » HOME » Dussehra 2021: जब रावण की जगह दहन किया मोदी-अडानी-अंबानी का पुतला, देखें वीडियो

Dussehra 2021: जब रावण की जगह दहन किया मोदी-अडानी-अंबानी का पुतला, देखें वीडियो

Dussehra 2021: When PM Narendra Modi- Gautam Adani- Mukesh Ambani's effigy was burnt instead of Ravana on Vijayadashami, watch video
Sharing is Important

Dussehra 2021: देश भर में असत्य पर सत्य की जीत का पर्व दशहरा मनाया जा रहा है। विजयादशमी पर जगह-जगह रावण के बुराई रूपी पुतले दहन किए जाते हैं। लेकिन देश में एक वक्त ऐसा भी आया जब इस पावन पर्व (Dussehra 2021) पर रावण की जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, देश बड़े उद्योगपति गौतम अडानी और मुकेश अंबानी के पूतले फूंक दिए गए। ये घटना बीते साल 2020 की है। जहां पंजाब से लेकर देश भर के विभिन्न राज्यों में किसान संगठनों ने मोदी सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में दशहरे के दिन (Dussehra 2021) रावण की जगह मोदी-अडानी-अंबानी के पुतले दहन किए थे।

इस दौरान इस घटना का पंजाब से एक वीडियो भी सामने आया था। यहां कृषि कानून से किसान इतने नाराज दिखाई दिए कि उन्होंने विरोध स्वरूप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला रावण की जगह दहन किया। इसमें प्रधानमंत्री मोदी के पुतले के साथ-साथ उद्योगपति गौतम अडानी और अंबानी का भी फोटो लगाया गया था। बीते वर्ष दशहरे के दिन रावण दहन की जगह पीएम मोदी के पुतले दहन की तस्वीर तेजी से वायरल हुई थी। ये घटना मीडिया की सुर्खियों में छाई रही। वहीं एक यूजर ने इसका वीडियो ट्वीटर पर भी पोस्ट किया था।

READ:  26/11 Mumbai Attack: top officials pay tribute to martyrs

रावण की जगह मोदी-अडानी-अंबानी का पुतला दहन, किसान कर रहे कृषि कानून का विरोध

मोलिटिक्स नाम के एक यूजर ने इस दहन का एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा था, पंजाब-हरियाणा के किसानों का आरोप है कि मोदी सरकार अंबानी-अडानी के साथ मिलकर उन्हें बंधुआ मजदूर बनाने पर तुली है। बिचौलिया खत्म करने की बात कहकर वह अनाज पूंजीपतियों के हाथ सौंपना चाहती है। किसान नाराज हैं।

वहीं दूसरी ओर पंजाब-हरियाणा में कांग्रेस की स्टूडेंट विंग एनएसयूआई ने भी दशहरे के दिन मोदी सरकार का पुतला फूंका था। एनएसयूआई ने प्रधानमंत्री मोदी को रावण बताया था और उनका पूतला फूंका था। इस दौरान एक युवा छात्र और किसान ने कहा था कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव के वक्त कई लुभावने वादे किए थे लेकिन एक भी पूरा नहीं किया गया और तो मोदी सरकार का ये कृषि कानून बिल किसानों को गुलामी की ओर धकेलने वाला है। प्रदर्शन करने वाले कई छात्रों और किसानों को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

READ:  Tripura Violence: UAPA on SC lawyers, who went Agartala to find facts

विरोध करने वाले छात्रों और किसानों ने मोदी के साथ कुल 10 लोगों के पोस्टर लगाए हुए थे। इसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी का भी फोटो रावण के पुतले पर लगाया गया था। इसके साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और चंडीगढ़ से बीजेपी सांसद किरण खेर के साथ कई अन्य बीजेपी के दिग्गज नेताओं का फोटो रावण के 10 सिरों की जगह लगाया गया था।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।