बहुसंख्यकों में सांप्रदायिकता बढ़ी तो देश को बचाना मुश्किल होगा? : दिग्विजय सिंह

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  • मोदी को गांधी की कद्र नहीं, ट्रम्प ने उन्हें राष्ट्रपिता कहा था’
  • भाजपा गांधी दर्शन को मानती है या गोडसे और गोवलकर के दर्शन को?
  • जिस विचारधारा ने महात्मा गांधी की हत्या की वो आज बहुत तेज़ी से फैल रही है

अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा- भारत में हिंदुओं का कट्टरपंथीकरण मुसलमानों के जितना ही खतरनाक होता जा रहा है.

हमने यूएन में पाकिस्तान के पीएम इमरान का दिया भाषण सुना, जिसमें उन्होंने कट्टरपंथी इस्लाम की बड़ी गंभीरता से चर्चा की थी. वहां बहुसंख्यक आबादी (मुस्लिम) का सांप्रदायिकरण हुआ. उसके जवाब में भारत में हिंदुओं का कट्टरपंथीकरण करना भी उतना ही खतरनाक है. बहुसंख्यकों में सांप्रदायिकता बढ़ी तो देश को बचाना मुश्किल होगा. यह बात जवाहर लाल नेहरू भी कह चुके हैं.

हम किसी भी क़ीमत पर ताउम्र ग़ुलामी की ज़िंदगी गुज़ारने के लिय तैयार नहीं हैं

दिग्विजय ने अमेरिका के ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम का जिक्र करते हुए कहा कि कार्यक्रम में जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राष्ट्रपिता कहा था, तब उन्हें तत्काल विरोध दर्ज कराना चाहिए था. अगर मोदी को महात्मा गांधी की जरा भी कद्र होती तो वे ट्रम्प के इस सम्मान को कभी स्वीकार नहीं करते हैं.

जमाल ख़ाशुक़्जी की हत्या का हुक्म सऊदी के सबसे बड़े अधिकारी की तरफ़ से आया था

गांधी जी की 150वीं जयंती पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि यह अजीब है कि जिस विचारधारा ने महात्मा गांधी की हत्या की, उसका अपने कार्यकर्ताओं को संदेश है कि एक महीने तक हर पंचायत में पदयात्रा करो. आप वहां कौन-सा दर्शन जनता के सामने रखेंगे, गांधी दर्शन रखेंगे या गोडसे या गोलवलकर दर्शन?

ALSO READ:  MP Elections 2018 : ABP न्यूज़ CSDS के एग्जिट पोल में बीजेपी को बड़ा झटका, कांग्रेस को पूर्ण बहुमत

अभी आयोध्या मामले की सुनवाई ज़्यादा ज़रूरी: सुप्रीम कोर्ट

दिग्विजय सिंह ने आगे बोलते हुए कहा कि आज हमारे सामने चुनौती है. हमें इसका जवाब अहिंसा से देना होगा. गांधी जयंती के उपलक्ष्य में भाजपा ने बुधवार से देश में 150 किमी की पदयात्राएं शुरू की हैं. इस यात्रा को दिग्विजय सिंह ने गांधी से झूठा प्रेम करने का भाजपा एक दिखावा बताया.