धनतेरस पूजा विधि

Dhanteras 2020: कुछ ही देर में शुरू हो जाएगी धनतेरस की पूजा, ये है शुभ मुहुर्त और पूजा विधि?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

धनतेरस पूजा विधि : दीपावली पांच दिनों का त्योहार है. इस त्योहार की शुरुआत धनतेरस (Dhanteras) के साथ होती है. कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस मनाया जाता है. धनतेरस को धनत्रयोदशी के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन सोना, चांदी और पीतल की वस्तुएं खरीदना बहुत शुभ माना जाता है.

धनतेरस पूजा सामग्री

लक्ष्मी-गणेश के चांदी के सिक्के
पूजा की सुपारी 5
मां लक्ष्मी को अर्पित करने के लिए 21 कमलगट्टे
प्रसाद के लिए मिष्ठान, पीले और सफेद रंग की मिठाई
पान के पत्ते, कटे-फटे न हो।
लौंग, कपूर
रोली और अक्षत
फूल-माला
फलों में शरीफा सबसे उत्तम रहता है।
नारियल, मां लक्ष्मी को अर्पित करने के लिए
गंगा जल
कुछ पैसों के सिक्के
धूप-दीप
चंदन, हल्दी, शहद इत्यादि।

ALSO READ:  Dhanteras 2020: सोना-चांदी खरीदने से पहले इन चार बातों का विशेष ध्यान रखें

27 मिनट तक ही पूजा का शुभ मुहूर्त

इस साल धनतेरस पूजा का अति शुभ मुहूर्त केवल 27 मिनट ही है. शाम 5:32 से 5:59 मिनट तक आप पूजा कर लें. इस दौरान पूजा करना फलदायी साबित होगा. यदि कोई इस समय दीपदान करता है तो अति शुभ होगा.

धनतेरस पूजा विधि

धनतेरस के दिन सबसे पहले विघ्नहर्ता भगवान गणेश की पूजा करें, उसके बाद देवी लक्ष्मी और कुबेर की पूजा करें, पूजा शुरू करने से पहले नए कपड़े के टुकड़े के बीच में मुट्ठी भर अनाज रखा जाता है. कपड़े को किसी चौकी या पाटे पर बिछाना चाहिए. कलश पानी से भरें, उसमें गंगाजल मिला लें. इसके साथ ही सुपारी, फूल, एक सिक्का और कुछ चावल के दाने और अनाज भी इस पर रखें. कुछ लोग कलश में आम के पत्ते भी रखते हैं. पूजा में फूल, फल, चावल, रोली-चंदन, धूप-दीप का उपयोग करना चाहिए. इस दिन पूजा में भोग लगाने के लिये नैवेद्य के रूप में सफेद मिठाई का प्रयोग किया जाता है. माना जाता है कि माता लक्ष्मी और कुबेर की पूजा करने से घर में सुख समृद्धि बनी रहती है.

ALSO READ:  Dhanteras Shubh Muhurat 2020: धनतेरस पूजा और खरीदारी के तीन शुभ मुहूर्त

धनतेरस के दिन खरीदारी का शुभ मुहूर्त :

12 नवंबर को खरीदारी का शुभ मुहूर्त । रात्रि 11:30 से 1:07 बजे तक । 13 नवंबर को खरीदारी का शुभ मुहूर्त । सुबह 5:59 से 10:06 बजे तक । सुबह 11:08 से दोपहर 12:51 बजे तक । दोपहर 3:38 मिनट से शाम 5:00

Dhanteras 2020: धनतेरस पर क्यों होती है झाड़ू की पूजा, क्या है इसका महत्व?

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.